14 साल की नाबालिक लडकी को बिहार से बरामद कर स्वजनों को सौंपा

0
163
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : पुलिस आयुक्त श्री ओ पी सिंह के द्वारा शहर में गुम हुए बच्चों को स्वजनों से मिलाने के अभियान के तहत सभी थाना, चौकी एवं मिसिंग सेल को आदेश जारी किए है। जिस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस चौकी पर्वतीय कॉलोनी ने 14 वर्षीय एक नाबालिक लडकी को बिहार के नवादा जिले से बरामद करने का सराहनीय कार्य करते हुए परिवार वालो के हवाले कर दिया।
आपको बतादे कि दिनांक 13 दिसम्बर को चौकी पर एक सूचना प्राप्त हुई कि एक 14 साल की नाबालिक लडकी घर से निकल गई है। जो कि आपने पिता के मामा के यहां आ रही। सूचना में बताया कि लडकी 11 दिसम्बर को घर से निकल गई थी। जिस सूचना पर थाना सारन में मुकदमा दर्ज कर तलाश शुरु दी गई थी।
जैसा की आप जानते है माता-पिता अपने बच्चों के भविष्य के लिए दिन रात मेहनत करके उनकी सारी आवश्यकताओं को पूरा करते है। बच्चों का मतलब माता पिता कि जान होते है। जिनकी कोई भी परेशानी वो सहन नही कर पाते। जिम्मेवारी और भी बढ़ जाती है जब बच्चे अपनी किसी रिश्तेदारी में होते है। ऐसा ही जब हुआ कि एक 14 वर्षीय लडकी अपने पिता के मामा के यहां आई हुई थी जो घर से निकल गई थी।
 पुलिस टीम ने 14 वर्षीय नाबालिक लडकी की फोटो सहित सारी जानकारी पुलिस संबन्धित व्हाट्सएप ग्रुपों में डाल दी और जगह जगह जाकर पुलिस ने पीसीआर के द्वारा अनाउसमेंट करा कर एवं सार्वजनिक जगहों पर लोगों से पूछताछ की गई।
नाबालिक लडकी के पिता के मामा ने बताया कि वह कपडे की दुकान पर कार्य करता है। जो काम के लिए दुकान पर गया था। जो लडकी बिना बताए घर से कही चली गई है। तब से लेकर अब तक अपने तौर पर लडकी को ढूंढ करहे थे।
पुलिस टीम ने बताया कि लडकी के वारे में इलेक्ट्रोनिक्स माध्यम से बिहार का पता चला जो तुरन्त पुलिस ने कार्रवाई करते हुए लडकी को नवादा बिहार से बरामद कर फरीदाबाद लाया गया। लडकी के परिजनो को अपनी लडकी को देख कर खुश हो गए।
 इसके साथ ही उन्हों हिदायत दी गई कि इस उम्र में बच्चे जल्दी किसी गलत व्यक्ति के बहकावे में आ जाते है। अपराधिक व्यक्ति इसका फायदा उठाकर उन्हें गलत रास्ते पर धकेल सकते है इसलिए वह अपने बच्चों के साथ शांति पूर्वक तरीके से बात करें और उनका ख्याल रखें।