“सूरजकुंड इंटरनेशनल स्कूल में 72 वां गणतंत्र दिवस मनाया गया”

0
278

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 26 जनवरी दयालबाग में स्थित सूरजकुंड इंटरनेशनल स्कूल में गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में उपस्थित स्कूल के मुख्य निदेशक एवं वरिष्ठ अधिवक्ता श्री सत्येंद्र भड़ाना, मुख्य अतिथि डॉ० अनिल गोयल व प्रधानाचार्या श्रीमती शुभ्रता सिंह एवं उप प्रधानाचार्या श्रीमती नंदा शर्मा द्वारा ध्वजारोहण किया गया जिसमें स्कूल के सभी अध्यापक व अध्यापिका भी शामिल थे। इसके पश्चात श्री सत्येंद्र भड़ाना जी ने मुख्य अतिथि डॉ० अनिल गोयल, श्रीमती प्रधानाचार्या व उप प्रधानाचार्या सहित दीप प्रज्वलित किया।

इस अवसर पर सूरजकुंड इंटरनेशनल स्कूल के मुख्य निदेशक एवं वरिष्ठ अधिवक्ता श्री सत्येंद्र भडाना जी ने सभी को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी तथा सभी अध्यापक व अध्यापिकाओं को संबोधित करते हुए कहा कि यह दिन हम सब के जीवन में परिवर्तन लाया था। गणतंत्र दिवस भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है।

इस अवसर पर वर्चुअल माध्यम  द्वारा सभी कक्षाओं के छात्र -छात्रों ने भिन्न -भिन्न गतिविधियों द्वारा गणतंत्र दिवस मनाया। इस अवसर पर अधिक से अधिक छात्रों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। प्री-प्राइमरी के बच्चों ने फैंसी  ड्रेस द्वारा भारत के स्वतंत्रता सेनानियो के चरित्र को दर्शाया। कक्षा पहली व दूसरी के बच्चों ने तिरंगा रंग के वस्त्र धारण कर गणतंत्र दिवस पर कविताएँ व गीत सुनाये। कक्षा तीसरी से पांचवी के छात्र – छात्राओं ने स्वतंत्रता सेनानियो का किरदार निभाकर उनके विषय में बताया व स्लोगन लिखकर सभी बच्चों में नए जोश व उत्साह का संचार भी किया। कक्षा छठी से आठवीं तक के छात्र – छात्राओं ने हमारे राष्ट्रीय चिन्ह एवं प्रतीक तथा स्वतंत्रता सेनानियो की  पेंटिंग्स बनायीं और हिंदी व अंग्रेजी दोनों ही भाषाओँ के माध्यम से  गणतंत्र दिवस के बारे में निबंध भी लिखे। सीनियर छात्रों ने स्वतंत्रता सेनानियो के योगदानो व उनके जीवन काल के विषय में विस्तारपूर्वक उल्लेख किया व भाषण व वाद विवाद प्रतियोगिता में भी भाग लिया। सभी छात्रों ने इस वर्चुअल माध्यम से मनाये गए कार्यक्रम को यादगार बना दिया साथ ही छात्रों के अभिभावकों ने वर्चुअल कार्यक्रम को मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए इसे एक अच्छी पहल बताया।

इसके पश्चात स्कूल की प्रधानाचार्या श्रीमती शुभ्रता सिंह मैं अतिथि गणों का धन्यवाद करते हुए कहा कि 26 जनवरी के दिन पूरे देश में हर्षोल्लास का माहौल होता है आज राजपथ पर सैनिकों द्वारा परेड भारत की क्षमता व शक्ति का प्रदर्शन हमें प्रेरणा देता है। हम सब को अपने अधिकारों को समझकर स्वतंत्र पूर्वक जीवन यापन करना चाहिए तथा हमें हमेशा अपने भारत देश के संविधान में सैन्य बल का भी सम्मान करना चाहिए। उन्होंने यह भी बताया कि आज सभी ने प्रथम बार गणतंत्र दिवस को वर्चुअल के माध्यम से मनाया जो की परिस्थितिजनित आवश्यक व्यवस्था थी। उप प्रधानाचार्या ने भी सभी को धन्यवाद देते हुए वर्चुअल कार्यक्रम के प्रतिभागियों का उत्साहवर्धन किया। अंत में कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान के साथ किया गया।