वैक्सीन के साथ साथ पुराने नियमो को अपना जरुरी

0
264

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : चीन के वुहान शहर से शुरू हुए कोरोना वायरस के संक्रमण ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोरोना वायरस को पैनडेमिक यानी महामारी घोषित करने के बाद दुनियाभर के वैज्ञानिक इसके खात्मे के लिए दवा खोजने में जुट गए। कोरोना नाम की इस महामारी से निजात पाने के लिए पूरे भारत में भी 16 जनवरी शनिवार से कोरोना वैक्सीन लगनी शुरू हो गई है। जिसके अंतर्गत कोविड अनलॉक में लोगो कोरोना के प्रति और भारतीय कोविड वैक्सीन के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से जज्बा फाउंडेशन, संभार्य फाउंडेशन, और सोनू नव चेतना फाउंडेशन के संयुक्त तत्वाधान में एनएचपीसी के सहयोग से नुक्कड़ नाटक सेक्टर-16,17, वर्ल्ड स्ट्रीट मार्किट, मोहना, छाएंसा, हीरापुर, जवाहर कॉलोनी, लेजरवेल्ली पार्क में मंचन हुआ।

इस अवसर पर कलाकार आदित्य कृष्ण मोहन ने बताया कि हम नाटक के माध्यम से ये समझने का प्रयास कर रहे है कि कोरोनावायरस ने पूरी दुनिया को एक साल तक हलकान किया है, अब इस पर काबू पाने का समय आ गया है। देश में वैक्सीनेशन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। कोरोना का वैक्सीन इस वायरस पर काबू पाने का एक मात्र बेहतर तरीका है। नाटक में यह भी बताया गया कि हमे अपनी वेकसिंन लगवाने के साथ साथ कोरोना से बचाव के नायमो का पालन करना होगा जैसे:- मास्क लगाना, हाथों को बार बार धोना या साफ करना, 2 गज़ की सामाजिक दुरी, कोरोना से जुड़े लक्षण दिखने पर डॉक्टर परामर्श। कार्यक्रम में कलाकार आदित्य कृष्ण मोहन, राधा ठाकुर, कृष्णा, तैयब, अभिषेक देशवाल, हिमांशु भट्ट, आलम, रोहित, राहुल वर्मा, किशन, गौरव, डॉ दुर्गेश का मुख्य सहयोग रहा।