लॉक डाउन की वजह से पुलिस द्वारा जगह-जगह बैरिकेडिंग कर नाके लगाए गए

0
296
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : आज सुबह करीब 7.30 बजे, ओल्ड फरीदाबाद में  एमसीएफ दफ्तर के सामने भी  नाका लगाया गया था। एक 13/14  साल का लड़का स्कूटी चलाता हुआ एमसीएफ दफ्तर के पास पहुंचा। स्कुटी पर एक अन्य लड़का भी पिछे बैठा था, बैरिकेडिंग पर पुलिसकर्मी ने उसे रोकने की कोशिश की तो  भागने की कोशिश में वह स्कूटी सहित गिर गया। और पुलिसकर्मी को भी इसमें चोट लगी।
 पुलिसकर्मी ने उसको उठाया और बाद में उसको हॉस्पिटल भिजवाया।
पुलिसकर्मी पर बच्चे को शराब के नशे मे डंडे से पीटने के आरोप लगाए गए जोकि सरासर झूठे और निराधार थे। पुलिस कर्मी का मेडिकल भी कराया गया जो कि उसने शराब का  सेवन। नहीं कर रखा था।
पुलिस आयुक्त महोदय के संज्ञान में यह बात आई उन्होंने तुरन्त थाना प्रबंधक ओल्ड को सीसीटीवी फुटेज चेक करने वह उचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे।
सीसीटीवी फुटेज के मैं पाया गया कि एक नाबालिक 13 साल का लड़का उसके पीछे एक दूसरा और 17 साल का लड़का बैठा हुआ है और उस स्कूटी को थोड़ी तेजी से लेकर आ रहा है। नाके पर मौजूद पुलिसकर्मी ने उसे रोकने की कोशिश की तो पुलिस को देख कर रुकने की बजाए  एक तरफ से भागने की कोशीश की और स्कूटी सहित गिर गया जिसकी वजह से ही उसे चोट लग गई। और पुलिसकर्मी को भी चोट लगी। पुलिसकर्मी ने  तुरंत उसे उठाया और चोट की वजह से बैठा  दिया। उसको हॉस्पिटल भिजवाया। जहां पर उसका भी इलाज चल रहा है। उचित कार्रवाई की जा रही है।