बीट प्रणाली ने 6 वर्षीय लापता लड़की के परिजनों को ढूंढने में निभाई अहम भूमिका

0
179
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : पुलिस चौकी सेक्टर 3 प्रभारी उप निरीक्षक विजेंदर सिंह की टीम ने 6 वर्षीय लापता बच्ची के परिजनों को ढूंढ कर उनके हवाले करने में सफलता हासिल की है।
लड़की के परिजनों को ढूंढने में बीट क्षेत्र में मौजूद पुलिसकर्मियों ने अहम भूमिका निभाई है।
पुलिस चौकी सेक्टर 3 के मुख्य सिपाही सुनील व सिपाही सुमित कल शाम करीब 7:00 बजे अपने थाना क्षेत्र में गश्त कर रहे थे।
गस्त करते समय जब वह खाटू श्याम मंदिर के पास से गुजर रहे थे कि उन्हें एक 6 वर्षीय लड़की अकेली घूमती हुई दिखाई दी।
बच्ची के पास उनके परिजनों को न पाकर पुलिसकर्मी लड़की के पास गए और उससे उनके परिजनों के बारे में पूछताछ करने की कोशिश की परंतु बच्ची कुछ भी बताने में असमर्थ थी।
पुलिसकर्मियों ने बच्ची का विश्वास जीतने के लिए उसे पास की दुकान से एक बिस्किट का पैकेट खरीद कर दिया जिसे खाने के पश्चात लड़की ने अपना नाम बताया और अपने परिजनों के बारे में पुलिस टीम को जानकारी दी परंतु उसे अपने घर का पता मालूम नहीं था।
लड़की को उसके परिजनों तक पहुंचाने के उद्देश्य से पुलिसकर्मियों ने आसपास के लोगों से लड़की के परिजनों के बारे में पूछताछ की परंतु उन्हें इसकी कोई जानकारी नहीं मिल पाई।
इसके पश्चात पुलिसकर्मियों ने लड़की के परिजनों का पता करने के लिए बीट क्षेत्र में मौजूद बीट कर्मचारियों की सहायता ली।
बीट पुलिसकर्मियों ने अपने अपने क्षेत्र में लड़की के परिजनों के बारे में पूछताछ की और काफी देर पूछताछ करने के पश्चात उन्हें लड़की के परिजनों के बारे में जानकारी प्राप्त हो गई।
पूर्वी चावला कालोनी में रहने वाले लड़की के माता-पिता को उसकी बेटी के बारे में सूचना दी गई और उन्हें लड़की को लेने के लिए पुलिस चौकी सेक्टर 3 में बुलाया गया।
लड़की के परिजनों को जैसे ही उसकी सूचना मिली तो वह उसे लेने पुलिस चौकी पहुंचे जहां पर लड़की ने अपने माता-पिता की पहचान की।
लड़की के माता-पिता ने बताया कि लड़की खेलते खेलते अचानक लापता हो गई और वह उसकी ही तलाश कर रहे थे।
लड़की के परिजनों को लड़की का ध्यान रखने की हिदायत के साथ ही लड़की को सकुशल उसके परिजनों के हवाले कर दिया गया।
बच्ची के परिजनों ने लड़की का ध्यान रखने का विश्वास दिलाया और पुलिस कर्मियों द्वारा किए गए इस सराहनीय कार्य के लिए उनका धन्यवाद किया।