क्राइम ब्रांच 48 ने अवैध हथियार और एक जिंदा कारतूस सहित किया गिरफ्तार

0
126
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : एसजीएम नगर एरिया में बुजुर्ग दंपति को अकेला देखकर लूट की कोशिश करने के एक मामले में क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 ने इस मामले को सुलझाते हुए मुख्य आरोपी सहित तीन आरोपियों को धर दबोचा है।
गिरफ्तार आरोपियों की पहचान ज्ञानी सिंह निवासी गोपालपुरी बुलंदशहर यूपी, रंजन पात्रा निवासी जिला केंद्रपाड़ा उड़ीसा, रामरतन उर्फ रामू निवासी कोसीकला मथुरा यूपी के रूप में हुई है।
आपको बता दें कि मुख्य आरोपी ज्ञानी सिंह ने एसजीएम नगर में एक मकान देखा कि इसमें एक बुजुर्ग दंपति अकेले रहते हैं और इनको आराम से लूटा जा सकता है जिस पर ज्ञानी सिंह ने दिनांक 1 फरवरी 2021 को अपने अन्य साथी रंजन पात्रा, राम रतन, किशन, विनोद और बंटी के साथ मिलकर लूट की वारदात को अंजाम देने की कोशिश की थी।
जिस पर आरोपियो के खिलाफ लूट करने की कोशिश और आर्म्स एक्ट के तहत मामला थाना एसजीएम नगर में दर्ज किया गया था।
बुजुर्ग दंपति का शोर सुनकर आसपास के लोग इकट्ठे हो गए तो उन्होंने पुलिस को फोन किया पुलिस और क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 के पहुंचने से पहले आरोपी मौके से फरार हो चुके थे लेकिन मुख्य आरोपी ज्ञानी सिंह भीड़ में ही शामिल हो गया था लेकिन दंपति के पहचानने पर उन्होंने शोर मचाया की एक आरोपी यह भी था तो मौके पर मौजूद क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 की टीम ने आरोपी को वही धर दबोचा।
आरोपी को रिमांड पर लेकर पूछताछ की गई तो पूछताछ के आधार पर आरोपी रंजन पात्रा और रामरतन उर्फ रामू को भी अलग-अलग एरिया से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल हुई है।
पूछताछ पर आरोपी ज्ञानी सिंह ने बताया कि एसजीएम नगर एरिया में उसने रेकी की थी जिस पर उसको पता लगा कि एक घर में दंपत्ति बुजुर्ग अकेले रहते हैं। जिस पर उसने अपने अन्य साथियों सहित वारदात को अंजाम देने के लिए कोशिश की थी। वारदात में प्रयोग किया गया अवैध हथियार एक देसी कट्टा एक जिंदा कारतूस आरोपी बंटी ने उपलब्ध कराया था।
पुलिस ने आरोपियों से एक देसी कट्टा और एक जिंदा कारतूस बरामद कर तीनों आरोपियों को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है अन्य तीन आरोपी किशन, विनोद और बंटी के ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है उनको भी जल्द गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेजा जाएगा।