क्राइम ब्रांच ने 2 दिन पहले टैक्सी ड्राईवर के साथ लूट की वारदात को अंजाम देने वाले 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार

0
182
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह द्वारा जिले में अपराधियों की धरपकड़ करके अपराधों पर लगाम लगाने के दिशा-निर्देशों के तहत कार्य करते हुए लूट की वारदात को अंजाम देने वाले 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है|
गिरफ्तार किया गए आरोपियों में रवि और यश का नाम शामिल है|
दोनों आरोपी डबुआ कॉलोनी के रहने वाले हैं जिनके खिलाफ थाना डबुआ में छिना-झपटी, लूट और आर्म्स एक्ट की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज है|
दो दिन पहले दिनांक 19 अप्रैल को आरोपियों ने अपने दो अन्य साथियों नितिन व मुकेश के साथ मिलकर टैक्सी ड्राईवर के साथ लूट की वारदात को अंजाम दिया था|
शिकायतकर्ता ने थाना डबुआ में दी अपनी शिकायत में बताया कि वह एन.आई.टी. फरीदाबाद का रहना वाला है और उसने अपनी गाडी को ओला कम्पनी से जोड रखा है| 19 अप्रैल की रात करीब 1.30 AM पर कस्टमर का फोन आया और उसे 27 फुट रोड मनी की टाल पर बुलाया|
बताई गई जगह पर पहुँचने पर उसे वहां पर उसे चार लडके मिले जो गाडी में उसके साथ बैठ गये|
चारों आरोपियों में से आगे बैठे हुए आरोपी ने एक देशी कट्टा निकाला और उसे गाडी में पिछे की सीट पर बैठ दिया| फिर उनमें से एक लड़के ने गाडी चलानी शुरू कर दी| आरोपियों ने पीड़ित के साथ मारपीट की और उसके पर्स से 1400 रुपये निकल लिए और उसका मोबाईल भी छिन लिया|
आरोपी गाड़ी लेकर भागने ही वाले थे कि थोड़ी दूर पर पुलिस टीम मौजूद थी| पुलिस टीम को देखकर पीड़ित में हिम्मत आ गई और उसने शोर मचा दिया| शोर मचाते ही गाड़ी चलाने वाले आरोपी का ध्यान भंग हो गया और गाडी बिजली के खम्बे से टकराकर रुक गई।
चारों आरोपी गाडी से उतरकर भाग गये और खेत में पीड़ित का मोबाईल छोड़ गए जो पीड़ित को बाद में मिल गया था|
पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह ने मामले में तुरंत संज्ञान लेते हुए आरोपियों की धरपकड़ के आदेश दिए जिसपर कार्यवाही करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 की टीम ने गुप्त सूत्रों की सहायता से कड़ी मशक्कत करने के पश्चात् आरोपियों को फरीदाबाद से गिरफ्तार कर लिया|
पूछताछ में सामने आया कि आरोपी नशे के आदि हैं जो अपने नशे की पूर्ति के लिये रुपये जुटाने के लिए उन्होंने अपने साथियों नितिन व मुकेश के साथ मिलकर हथियार के बल पर लूट की वारदात को अंजाम दिया था|
आरोपियों के कब्जे से वारदात में प्रयोग मोबाइल और 400 रुपए बरामद किए गए हैं|
आरोपियों को अदालत में पेश करके जेल दिया गया है और उनके अन्य दो साथियों की पुलिस द्वारा जल्द तलाश करके जल्द गिरफ्तार किया जाएगा|