दुकानदार के साथ लूटपाट करके रंगदारी मांगने वाले पांच आरोपियों को क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार

0
151
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : पुलिस आयुक्त श्री ओ पी सिंह द्वारा दिए गए अपराधियों की धरपकड़ के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने दुकानदार के साथ लूट करके बाद में उसे रंगदारी मांगने के मामले में पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है।
गिरफ्तार किए गए आरोपियों में सोनू उर्फ स्टीफन, राहुल उर्फ टुल्ला, नवीन, अभिषेक और रोहित का नाम शामिल है।
आरोपी सोनू उर्फ स्टीफन, राहुल उर्फ टुल्ला, नवीन व आरोपी रोहित ओल्ड फरीदाबाद के रहने वाले हैं वहीं आरोपी अभिषेक खेड़ी पुल क्षेत्र का रहने वाला है।
पूछताछ में सामने आया कि आरोपियों ने सेक्टर 16A निवासी राजेंद्र के साथ पहले लूटपाट की और उसके एक हफ्ते पश्चात उनसे 5 लाख रुपए की रंगदारी मांगी थी।
शिकायतकर्ता राजेंद्र ने पुलिस को दी अपनी शिकायत में बताया कि वह सेक्टर 16A का निवासी है और ओल्ड फरीदाबाद में उसकी किराना की दुकान है। वह रोज शाम को सेल के पैसे अपनी स्कूटी की डिग्गी में रखकर दुकान से घर जाता है।
गिरफ्तार किए गए आरोपियों में मुख्य आरोपी राहुल कुछ समय पहले तक राजेंद्र की दुकान पर कार्य करता था। किसी कारणवश उसने दुकान पर काम करना बंद कर दिया और किसी अन्य व्यक्ति से कुछ कर जा भी ले रखा था।
आरोपी राहुल ने अपने साथियों के साथ मिलकर दुकानदार से पैसे लूटने और रंगदारी मांगने की योजना बनाई।
आरोपी राहुल को इस बात की जानकारी थी कि दुकानदार रोजना शाम को दिनभर की कमाई के पैसे स्कुटी की डिगगी मे रखकर अपनी दुकान से घर ले जाता है।
दिनांक 22 मार्च 2021 को शाम के समय जब राजेंद्र अपनी दुकान बंद करके पैसे और जरूरी कागजात स्कूटी की डिग्गी में रखकर अपने घर जा रहा था तो रास्ते में सेंट पीटर स्कूल से आगे चौक पर आरोपी योजनाबद्ध तरीके से उसे रुकवा कर उसकी स्कूटी लेकर भाग गए।
पीड़ित राजेंद्र जैसे तैसे अपने घर पहुंचा और अपने परिजनों को घटना के बारे में बताया। इसके पश्चात अपने परिजनों के साथ जब वह पुलिस चौकी सेक्टर 16 में अपनी शिकायत दर्ज करवाने के लिए आ रहे थे तो रास्ते में उन्हें उनकी स्कूटी खड़ी दिखाई दी।
जब राजेंद्र ने अपनी स्कूटी चेक की तो उसमें से पैसों का बैग गायब था जिसकी शिकायत राजेंद्र ने पुलिस चौकी में दी जिसके आधार पर अनजान व्यक्तियों के खिलाफ स्नैचिंग की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया।
पुलिस इस मामले में जांच कर ही रही थी कि दिनांक 30 मार्च को शिकायतकर्ता के फोन पर किसी अनजान व्यक्ति का फोन आया और उसे धमकी दी कि हमने तेरे नाम की सुपारी ले रखी है और हमने  ही एक हफ्ते पहले तुम्हारी स्कूटी से पैसे उड़ाए थे।
आरोपियों ने राजेंद्र को धमकी देते हुए 5 लाख रुपए की रंगदारी मांगी और रंगदारी न देने पर उसे और उसके बेटे और बेटी को जान से मारने की धमकी दी।
राजेंद्र ने इसकी शिकायत फिर से पुलिस चौकी सेक्टर 16 में कि जिस आधार पर आरोपियों के खिलाफ रंगदारी मांगने और जान से मारने की धमकी देने की धाराओं के तहत एक अन्य मुकदमा दर्ज किया गया।
पुलिस आयुक्त ने इस मामले में संज्ञान लेते हुए जल्द से जल्द अपराधियों की धरपकड़ के निर्देश दिए जिस पर कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच डीएलएफ की टीम ने गुप्त सूत्रों और साइबर तकनीक की सहायता से आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।
आरोपियों के कब्जे से वारदात में प्रयोग मोटरसाइकिल, स्कूटी, मोबाइल फोन और 16 हजार रुपए नगद बरामद किए। आरोपी ने बताया कि बाकी के पैसे वह खर्च कर चुके हैं।
सभी आरोपी नवयुवक है जिनकी उम्र लगभग 18 से 20 वर्ष है।
आरोपियों से मामले में गहनता से पूछताछ व बरामदगी करने के पश्चात सभी आरोपियों को अदालत में पेश करके जेल भेज गया।