क्राइम ब्रांच सेंट्रल के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, मोटरसाइकिल चोर गिरोह के दोनों आरोपियों को किया गिरफ्तार

0
190
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : क्राइम ब्रांच सेंट्रल प्रभारी इंस्पेक्टर सुरेंद्र सिंह की टीम ने मोटरसाइकिल चोर गिरोह का पर्दाफाश करते हुए गिरोह के दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।
गिरफ्तार किए गए आरोपियों में विकास उर्फ विक्की और पुष्पेंद्र का नाम शामिल है।
आरोपियों को अवैध हथियार सहित थाना सिटी बल्लभगढ़ क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है।
आरोपियों के कब्जे से 1 देसी कट्टा व 1 जिंदा कारतूस बरामद किया गया है। आरोपियों से की गई पूछताछ के दौरान सामने आया कि आरोपियों ने वाहन चोरी की कई वारदातों को अंजाम दिया है और इसी के चलते लोगों में डर बैठाने और अपनी सुरक्षा के लिए वह इस कट्टे को मथुरा से किसी अनजान व्यक्ति से लेकर आए थे।
आपको बता दें कि पिछले 2-3 माह से फरीदाबाद सेट्रंल एरिया के टाउन पार्क सेक्टर 12 से लगातार मोटरसाईकिल चोरी की वारदात करने वाला गिरोह सक्रिय था जो मोटरसाईकिल चोरी की वारदात करके फरार हो जाते थे जिस संबध में  फरीदाबाद थाना सेट्रंल में दर्जनों मुकदमे दर्ज हुए थे ।
मोटरसाईकिल चोरी की घटनाओ पर संज्ञान लेते हुए पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह व पुलिस उपायुक्त अपराध श्री मुकेश मल्होत्रा के दिशा निर्देशों पर सहायक पुलिस आयुक्त श्री अनिल कुमार ने अपराध शाखा सैट्रंल प्रभारी निरीक्षक सुरेन्द्र सिहं को उपरोक्त चोरी की वारदातों पर अंकुश लागने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए थे।
उच्च अधिकारियों के दिशा-निर्देश अनुसार अपराध शाखा सेट्रंल प्रभारी निरीक्षक सुरेंद्र सिहं की अगुवाई में पुलिस टीम का गठन किया गया जिसमें उप निरिक्षक राजेन्द्र सिंह , सहायक उप निरीक्षक राजेश कुमार , सत्यवान , मुख्य सिपाही जयपाल ,कुलदीप,  सिपाही कृष्ण, अनिल,राकेश, चनद्रमोहन , और चालक ESI विरेनद्र सिहं शामिल थे।
पुलिस टीम ने कड़ी मशक्कत व गुप्त सूत्रों की सहायता से दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करके चोरी की 7 वारदातों को सुलझाते हुए आरोपियों के कब्जे से 7 मोटरसाइकिल बरामद की हैं।
पूछताछ में सामने आया कि दोनो आऱोपी नशा करने के आदि है जो आज से पहले कभी पकड़े नही गए थे। आरोपी विकास उर्फ विक्की पहले SRS MALL में वाहनों की पार्किगं में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता था ।
लाकडाउन के दौरान नोकरी छुट जाने के बाद कोई काम धंधा  नही मिलने के वजह से आरोपी के मन में जल्दी पैसे कमाने के लालच में मोटरसाइकिल चोरी करने की मंशा पनपी और गांव के ही अपने साथी पुष्पेन्द्र को पेसों का लालच  देकर मोटरसाईकिल चोरी के काम में शामिल कर लिया।
दोनों आरोपी तकरीबन शाम के समय मोटरसाईकिल चोरी की वारदात को अंजाम देते थे। आरोपी विकास उर्फ विक्की रैकी करता था। जैसे ही टाउन पार्क के बाहर गेट पर मोटरसाईकिल मालिक अपनी मोटरसाईकिल को खड़ी करता, आरोपी विकास उसके पीछे जाकर उसकी रैकी करता और बाहर गेट पर खड़े दुसरे साथी को अंदर पार्क से इशारा कर सुचना दे देता। बाहर गेट पर खड़ा दुसरा साथी मोका पाकर बाईक को पलक झपकते ही चोरी कर लेता था ।
उसके बाद दोनो आरोपी बाईक को लेकर अपने गांव बहादुरपुर की तरफ फरार हो जाते थे। पुलिस की पकड़ में ना आए इसके लिए चोरी करने के बाद दोबारा 5-6 दिनों तक उस जगह चोरी करने नही आते थे।
पुलिस ने दोनों आरोपियों को काबू करके चोरी की कई वारदातों को सुलझाने में अहम भूमिका निभाई है।
आरोपी विकास उर्फ विक्की पुत्र सतबीर सिह व आरोपी पुष्पेन्द्र पुत्र रतन सिंह फरीदाबाद के बहादुरपुर गांव के रहने वाले हैं जिन्हें अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है।