क्राईम ब्रांच सैक्टर 65 को मिली बडी कामयाबी चोरी करने वाले गिरोह का किया पर्दाफास

0
233
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : पुलिस कमिश्नर श्री OP SINGH, पुलिस उपायुक्त अपराध श्री मुकेश मल्होत्रा व सहायक पुलिस आयुक्त अपराध श्री अनिल कुमार के दिशा निर्देश पर कार्यवाई करते हुए क्राइम ब्रांच सैक्टर 65 प्रभारी इंस्पेक्टर कर्मवीर ने वाहन चोरी करने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को लूट की कोशिश करते समय काबू करने में कामयाबी हासिल की है।
क्राईम ब्रांच प्रभारी ने बताया की गुप्त सूत्रों से उनको सुचना मिली थी कि ट्रांसपोर्ट नगर सेक्टर 61 में सुनसान जगह पर उपरोक्त आरोपियान लूटपाट की योजना बना रहे हैं जिस पर क्राईम ब्रांच प्रभारी ने तुरंत कार्यवाई करते तीन आरोपियों को मौके पर दबोचने में सफलता हासिल हुई है।
आरोपियों के खिलाफ लूट की कोशिश के तहत मामला थाना आदर्श नगर में दर्ज किया गया है।
प्रभारी क्राइम ब्रांच ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपियो की पहंचान साद निवासी गांव बादली थाना पुनहाना जिला नँहू,दिलशाद निवासी गांव नुनेरा सोहना जिला गुरुग्राम, हुजैफा निवासी गांव बादली थाना पुन्हाना जिला नूँह मेवात के रुप में हुई है।
पूछताछ में आरोपियो ने बताया कि उन्होंने थाना आदर्श नगर में 4 फरवरी 2021 को एक आईसर कैन्टर, 7 फरवरी को थाना आदर्श नगर के एरिया में एक मोटरसाईकिल चोरी की घटना को अंजाम दिया है। एक इको कार को 12 नम्बर को थाना आदर्श नगर के एरिया से चोरी किया था।
उपरोक्त तीनो आरोपियो द्वारा थाना शहर बल्लबगढ़ के एरिया में दिनांक 6 फरवरी को एक आईसर कैन्टर, थाना सैक्टर-31 के एरिया से भी एक आईसर कैंटर को दिनांक 25 जनवरी को चोरी किया था। थाना सैन्ट्रल में दिनांक 10 फरवरी को एक मोटरसाईकिल चोरी की घटना को अंजाम दिया था।
उपरोक्त आरोपियो से 5 आईसर कैंटर, एक इको कार, दो मोटरसाइकिल, एक स्कूटी, चार स्टेपनी बरामद की है। आरोपियों से बरामद वाहन और सामान की कीमत करीब लगभग ₹ 80 लाख रुपए हैं।
आरोपियो पर कुल 12 मुकदमे सामने आये है जिनमे 4 घटना थाना आदर्श नगर, 2 थाना सैक्टर-7 व 1-1 घटना थाना शहर बल्लबगढ़, थाना सेक्टर-31,थाना सैन्ट्रल, थाना खेडी पुल, थाना ओल्ड और थाना पल्ला में की है। जिनमें से कुछ बरामदगी हो गई है कुछ बकाया है। जो आरोपियो को पेश अदालत कर 7 दिन की पुलिस रिमाण्ड पर लिया गया है। आरोपियो ने एक स्कूटी को दिल्ली से चोरी किया है।
पूछताछ पर आरोपी साद ने बताया की आरोपी के चार भाई जेल में हैं। वर्ष 2007 में साद के भाई मुस्ताक ने हरियाणा पुलिस में कार्यरत प्रधान सिपाही उमर मोहम्मद की सीधी गोली मारकर हत्या कर दी थी आरोपी के चारों भाई अलग-अलग जेलों में बंद है जिनके खर्चे के पैसों की पूर्ति के लिए आरोपी ने अपना गिरोह बनाकर वाहन चोरी की घटनाओ को अंजाम देता है।
आरोपी दिलशाद ने बताया कि आरोपी साद तथा हुजैफा के साथ मिलकर अपनी गाड़ी में बैठा कर खड़ी गाड़ी कैंटर व इको गाड़ी आदि की रेकी करके अपने साथियों को उन्हें चोरी करने के लिए स्थान पर छोड़ देता था वह खुद गाड़ी में लगे जीपीएस को हटाने में मदद करता था व गाड़ी को चोरी करके तीन-चार किलोमीटर तक आगे आगे चलता था जोकि पुलिस के बारे में सूचना देता था कि पुलिस आगे खड़ी है कि नहीं।
आरोपी हुजैफा ने अपने साथियों के साथ गाड़ियों को स्टार्ट करने में गाड़ियों की रेकी करने में तथा गाड़ियों को ले जाने में मदद करता था।
क्राईम ब्रांच टीम ने बताया कि अभी आरोपियो से पूछताछ बाकी जो आरोपियो को पेश अदालत कर आरोपियो को 7 दिन की पुलिस रिमाण्ड पर लिया गया है। आरोपियो से वाहन चोरी की ओर भी वारदात सुलझने की संभावना है।