बैंक खातों की जानकारी हासिल कर लोगों से ठगी करने वाले एक गिरोह के 3 आरोपियों को साइबर शाखा ने किया गिरफ्तार

0
380
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : फरीदाबाद जिले की साइबर अपराध शाखा ने श्रीमान पुलिस आयुक्त श्री केके राव के दिशा निर्देश पर कार्य करते हुए आमजन के अकाउंट व आधार कार्ड की जानकारी हासिल कर उनके अकांउट से पैसे निकालने वाले 9 आरोपियों को गिरफतार करने में कामयाबी हासिल की है।
सहायक पुलिस आयुक्त अपराध श्री अनिल यादव ने बताया कि आरोपियों ने सर्व हरियाणा ग्रामीण बैक के खाता धारक नानक चंद के खाता से अकाउंट होल्डर नानकचंद बनकर करीबन 46 लाख 47 हजार रूपये धोखाधडी से निकाल लिए थे।
यह बात बैक प्रबंधक के संज्ञान मे आने पर उन्होने अभियोग संख्या 121 दिनांक 18.02.2020 जेर धारा 419, 420,467, 468, 471, 34, भा.द.स. के तहत थाना शहर बल्लबगढ, फरीदाबाद मे अंकित कराया।
श्रीमान पुलिस आयुक्त ने मामले की जांच श्री अनिल यादव एसीपी अपराध के नेतृत्व में साइबर अपराध शाखा को सौंपी थी।
एसीपी अपराध श्री अनिल यादव ने प्रभारी निरीक्षक बसन्त कुमार, प्रभारी साईबर अपराध शाखा, सहित टीम गठित की जिसमें अनुसंधान अधिकारी उप निरीक्षक राजेश कुमार साथी ASI  योगेश कुमार, ASI बाबूराम, ASI सत्यवीर, HC दिनेश ,HC नरेन्द्र कुमार, HC  देवेन्द्र कुमार, सिपाही अंशुल को शामिल किया गया।
साइबर अपराध शाखा ने तकनीकी अनुसंधान एवं कडी मेहनत कर 9 आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की।
गिरफ्तार आरोपी:-
1. विनीत मल्होत्रा उर्फ बंन्टी पुत्र विनोद कुमार निवासी ग्राम चैकी, तहसील पालमपुर, जिला कांगडा।
2. सचिन सूद उर्फ सानू पुत्र स्व. सुशील कुमार निवासी ग्राम मरंन्डा, तहसील पालमपुर, जिला कांगडा, हिमाचल प्रदेश।
3. तरूण गुप्ता पुत्र जोगेन्द्र गुप्ता निवार्सी  445 शिव  नगर, गली नंबर 23, दिल्ली हाल ब् 804  इन्डोसम अपार्टमैन्ट सैक्टर 75 नोएडा।
 *उपरोक्त मुकदमा में छह आरोपी पहले ही गिरफ्तार किए जा चुके हैं जिन को जेल भेजा जा चुका है।*
श्री अनिल यादव, एसीपी अपराध, ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियान से पूछताछ में सामने आया कि वे किसी बैक मे जाकर ग्राहको के अकाउंट नंबर, उनके आधार कार्ड व अन्य जानकारी हासिल कर लेते थे।
उसके उपरान्त वे उस आधार कार्ड नंबर से आधार कार्ड की कॉपी निकलवा लेते थे और बैक मे जाकर अकांउट होल्डर बनकर अकांउट मे अटैच मोबाईल नंबर को अपने नंबर से अपडेट करा लेते थे।
अपडेट किए गए मोबाईल नंबर पर अकांउट की सारी डिटेल हासिल कर लेते थे। इसके उपरान्त उक्त आधार कार्ड को बैक मे साथ ले जाकर अकाउट होल्डर बनकर चैक बुक जारी करा लेते थे।
और बैक में पड़ी रकम को उक्त चेको के माध्यम से निकाल लेते थे।
प्रभारी साइबर अपराध शाखा निरीक्षक बसंत कुमार ने बताया कि इसी तरह उन्होने सर्व हरियाणा ग्रामीण बैक के खाता धारक नानक चंद के खाता मे मोबाईल नंबर अपडेट कराकर करीबन 46 लाख 47 हजार रूपये धोखाधडी करके निकाल लिए थे।
जिनमें से 42 लाख रूपये के करीब का एक किलो सोना आरोपियान ने खरीद लिया था।
प्रभारी साइबर अपराध शाखा ने बताया कि आरोपियों में से एक आरोपी UIDAI आधार कार्ड रिजनल आफिस मे बतौर आपरेटर नौकरी करता है।
पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि आरोपियान से वारदात मे प्रयुक्त मोबाईल फोन, धोखाधडी से प्राप्त रकम से खरीदा गया 1 किलो सोना, रकम मुबलिक 4 लाख 65 हजार रूप्ये बरामद हुए है,,,,,मुकदमा में तफ्तीश जारी है।