आईएएस रानी के समर्थन में आए धर्मबीर भड़ाना

0
779

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 26 अप्रैल भारतीय प्रशासनिक सेवा 2014 बैच की हरियाणा कैडर की आईएएस अधिकारी रानी नागर द्वारा सार्वजनिक रूप से इस्तीफा दिए जाने की घोषणा के बाद उनके समर्थन में अनेक नेतागण एवं गुर्जर समाज के लोग उतर आए हैं। इसी कड़ी में फरीदाबाद से आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष एवं पाली क्रेशर जोन के प्रधान धर्मबीर भड़ाना ने इसे निंदनीय बताया है और कड़े शब्दों में इसकी निंदा की है। भड़ाना का कहना है कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली भाजपा सरकार में जब एक आईएएस रैंक की महिला अधिकारी ही सुरक्षित नहीं है, तो आम महिलाओं की सुरक्षा का दावा कैसे किया जा सकता है। ज्ञातव्य है कि हरियाणा कैडर की आईएएस अधिकारी रानी नागर ने हरियाणा के आईएएस अधिकारी सुनील गुलाटी पर उत्पीडऩ, शोषण व जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया था। जिसके बाद से रानी ने सार्वजनिक रूप से इस्तीफे की पेशकश की थी।उनके इस्तीफे के पेशकश के बाद से ही रानी के समर्थन में उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने हरियाणा की रानी नागर का पक्ष लेते हुए सरकार से उनके आरोपों की उच्च स्तरीय जांच करवाने की मांग की है। इसके अलावा गुर्जर समाज के अनेक लोग रानी के समर्थन में आकर रानी द्वारा लगाए गए उक्त आरोपों की निष्पक्ष जांच की मांग कर रहे हैं। धर्मबीर भड़ाना ने भी हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर व मुख्य सचिव से इस मामले में तुरंत संज्ञान लेकर उनके द्वारा लगाए गए आरोपों की निष्पक्ष जांच करने की मांग सरकार से की है। भड़ाना ने कहा कि आईएएस रानी नागर गुर्जर समाज की बेटी है और समस्त गुर्जर समाज उसके साथ खड़ा है। आईएएस अधिकारी द्वारा इस प्रकार से उनके साथ उत्पीडऩ व धमकी देना शर्मनाक घटना है। दो वर्ष पूर्व भी रानी नागर ने इस मामले को उठाया था परंतु सरकार ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया और अब फिर से उन्होंने आईएएस अधिकारी पर अपहरण होने का शक, उत्पीडऩ व जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है इसलिए सरकार का दायित्व बनता है कि वह इस मुद्दे पर तुरंत कारगर कदम उठाए।