ऑडिबल पर स्ट्रीम कर रही वसीम अकरम की कहानी ‘डायरी

0
305
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj :  अगर आपको किताबें और कहानियां पढ़ने का शौक है लेकिन वक्त की कमी की वजह से नहीं पढ़ पाते हैं तो इसका हल अमेज़न ऑडिबल पर मौजूद है। ऑडिबल लेकर आया है वसीम अकरम की लिखी कहानी ‘डायरी’ का ऑडियो शो, जिसमें कुल 16 एपिसोड हैं और हर एपिसोड रोमांच पैदा करने वाला है। ऑडिबल की यह ऑरिजिनल सीरीज़ हिंद युग्म की पेशकश है।
हिंद युग्म और ऑडिबल की साझा पेशकश
हिंद युग्म और ऑडिबल ओरिजिनल की साझा पेशकश में सबसे पहली सीरीज के रूप में वसीम अकरम की लिखी सीरीज ‘डायरी’ श्रोताओं के सामने है। इसमें एक ऐसी लड़की की कहानी है जो अपने बचपन में चाइल्ड एब्यूज का शिकार हो जाती है। उस हादसे का उसके ज़ेहन पर इतना गहरा सदमा लगता है कि वो मर्दों से नफ़रत करने लगती है। जब बड़ी होती है तो उसे लगता है कि दुनिया को वो सब कुछ बताना चाहिए जो उसके साथ हुआ। इसलिए वो डायरी लिखनी शुरू करती है और उसमें अपनी सारी तकलीफ उड़ेल देती है। डायरी लिखते-लिखते उसका डिप्रेशन बढ़ता जाता है और एक दिन गुस्से में वो उस डायरी को रद्दी में फेंक देती है। रद्दी के जरिए वो डायरी रद्दी वाले एक लड़के के पास पहुंचती है। लड़का जब डायरी को पढ़ना शुरू करता है तो वो भी परेशान हो जाता है और लड़की को खोज निकालने का जुनून जाग उठता है। कई दिनों बाद डायरी के एक पेज पर उसे एक क्लू मिलता है। महीने भर से ज़्यादा समय तक शहर भर की गलियों की खाक छानने के बाद अंतत: वो लड़का उस लड़की के घर के सामने पहुंच जाता है। उसकी तलाश पूरी हो जाती है।
अपनी कहानी के बारे में बताते हुए कहानीकार वसीम अकरम कहते हैं कि – “हमारे आस-पास के घरों में जो बच्चे चाइल्ड एब्यूज का शिकार होते हैं और पूरी जिंदगी एक स्टिग्मा यानी कलंक से जूझते हुए भारी तकलीफ में जीते हैं, उनके लिए ही मैंने ये कहानी लिखी है, ताकि समाज को एक संदेश जाए कि बच्चों को ऐसे हादसों से बचाए जाने की जरूरत है।”
हिंद युग्म के संपादक शैलेश भारतवासी ने बताया कि- “तकनीक ने मनोरंजन और ज्ञानार्जन के नए तौर तरीके बनाए हैं। ऑडियो बुक युवाओं में ट्रेंड करने लगा है। हिंद युग्म ऑडिबल के साथ मिलकर कई सारी ओरिजिनल सीरीज लेकर आने वाला है, जो अलग-अलग विषयों पर आधारित हैं। हम कई तरह के प्रयोग इस माध्यम से सुनने वालों के सामने परोसना चाहते हैं।”
इस कहानी को ऑडिबल एप के जरिए आप अपने फोन, टैबलेट, डेस्कटॉप और लैपटॉप पर बड़ी आसानी से सुन सकते हैं। अमेजॉन के मेंबर इसे फ्री में सुन सकते हैं। गौरतलब है कि ऑडिबल भारतीय क्लासिक्स से लेकर अंतर्राष्ट्रीय बेस्टसेलर तक हर तरह की किताबों के ऑडियो बुक्स को अपने यूजर्स के लिए उपलब्ध करा रहा है।