कोरोना से जंग में मजबूती से जुटें हैं डॉ रफी

0
370
Nuh Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : कोरोना से ना केवल देश प्रदेश बल्कि मेवात भी खासा प्रभावित हुआ है, लेकिन सुखद पहलू ये रहा है कि हर तरफ से इस जंग में सरकार व प्रशासन को सहयोग मिला है।
नूह जिले के एक मात्र मेवात इंजीनियरिंग कॉलेज नूह के निदेशक डॉ ख्वाजा मुहम्मद रफी भी लगातार सहयोग कर रहे हैं। अपने घर को छोड़कर वो खुद कॉलेज के प्रांगण में रुके हुए हैं और प्रशासन व क्वारंटाइन कर रहे लोगों का सहयोग कर रहे हैं।
डॉ रफी के नेतृत्व में कॉलेज के सहायक प्रोफेसर शाहीन खान व इरशाद कॉलेज की पर्योगशाला में सेनेटाइजर बना कर क्वारंटाइन कर रहे लोगों व आसपास के गांवों के लोगों को बांट रहे हैं।
कॉलेज के जनसंपर्क अधिकारी वसीम अकरम ने बताया कि निदेशक डॉ रफी पास के गांवों के लोगों को कोविड 19 से बचने के उपाय भी बता रहे हैं, सोशल दूरी के साथ साथ वो उन्हें साफ स्वच्छ व सजग रहने की अपील कर रहे हैं। डॉ रफी खुद अपनी तरफ से जरूरतमंद लोगों को राशन भी मुहैय्या करा रहे हैं।
डॉ ख्वाजा मुहम्मद रफी ने बताया कि कॉलेज ने अपनी बिल्डिंग क्वारंटाइन के लिए प्रशासन को दी हुई है जिसमें 103 लोग रह रहे हैं, उनके जरूरी इंतजामों की देखरेख भी वो कर रहे हैं।
हरियाणा वक्फ बोर्ड के प्रशासनिक अधिकारी इम्तियाज खिज़र लगातार निदेशक से संपर्क बनाए हुए हैं और समाज हित में कॉलेज के योगदान की सराहना कर रहे हैं। इम्तियाज खिज़र ने बताया कि इस आपदा की घड़ी में कॉलेज व हरियाणा वक्फ बोर्ड आम जन व सरकार के साथ मजबूती से खड़ा है।
कॉलेज के जनसंपर्क अधिकारी वसीम अकरम ने बताया कि कॉलेज व हरियाणा वक्फ बोर्ड के सभी कर्मचारियों ने अपने तीन दिन का वेतन मुख्यमंत्री रिलीफ़ फंड में दान दे दिया है।