कृषि कानूनों के समर्थन में भाजपा के झूठे प्रचार का जवाब देने के लिए किसान संगठन भी मैदान में उतरे

0
403
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : किसान संगठनों ने भाजपा के झूठे प्रचार के खिलाफ और कृषि कानूनों के तीनों कानूनों की असलियत बताने के लिए किसान नेताओं ने आज करनेरा भनकपुर सिकरोना आदि गांवों में किसानों की सभाएं की और सभी सभाओं में किसानों से 24 दिसंबर को पलवल जिले में बैठे किसानों के समर्थन में पलवल उपायुक्त कार्यालय कुस्लीपुर पर 11:00 बजे इकट्ठे होने का आमंत्रित किया।
इस अवसर पर कृषि कानूनों से किसानों में आम जनता पर पड़ने वाले विनाशकारी प्रभावों की जानकारी दी इन सभाओं को किसानों के मिले भारी समर्थतन से उत्साहित किसान नेताओं के हौसले बुलंद हैं। इस अवसर पर अखिल भारतीय किसान सभा द्वारा हैंड बिल व बुकलेट किसानों में वितरित किए गए इस जन जागरण अभियान में शामिल अखिल भारतीय किसान सभा के जिला अध्यक्ष नवल सिंह किसान संघर्ष समिति नहर पार के कन्वीनर सतपाल नरवत किसान सभा के नेता श्री पाल सिंह भाटी बीकेएस के बबलू हुड्डा मास्टर वीरेंद्र राजीव रंजन त्यागी सहीराम रावत नाहर सिंह धारीवाल ने अपने संबोधन में बताया कि कारपोरेट घरानों को फायदा पहुंचाने के लिए संसद में जबरदस्ती तीन काले कानून कृषि बिल के नाम से पास किए गए हैं तथा बिजली संशोधन बिल 2020 भी किसानों के लिए डेथ वारंट है।
लेकिन सरकार के निर्देश पर भाजपा नेता अपने-अपने आकाओं को खुश करने के लिए इन काले कानूनों को किसान में हित में बताने के लिए बड़ी बेशर्मी से प्रचार में जुटे गए हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे नेताओं को किसान व मजदूर समय आने पर माकूल जवाब देंगे गांव की जनसभाओं में किसान नेताओं ने कहा कि किसान कड़कड़ाती जानलेवा ठंड में दिल्ली के चारों ओर 26 दिन से बैठे हैं जिसके कारण 3 दर्जन के लगभग किसानों की जान चली गई है। लेकिन भाजपा सत्ता के नशे में चूर इन काले कानूनों को रद्द नहीं करना चाहती सरकार हठ धर्मिता से पता चलता है कि सरकार किसानों की बजाय  पूंजीपतियों के लिए काम कर रही है वक्ताओं ने कहा कि किसान आंदोलन को खालिस्तानी पाकिस्तानी अर्बन नक्सली टुकड़े टुकड़े गैंग आदि अनेक नाम देकर इस आंदोलन को बदनाम करने की पूरी कोशिश कर रही है लेकिन वह अपनी कोशिश में कामयाब नहीं हो रही किसान आंदोलन में हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई किसान मजदूर की पूरे देश में एकता कायम हुई है वक्ताओं ने कहा कि भाजपा किसान आंदोलन के लंबा करना चाहती है लेकिन भाजपा के तीन काले कानूनों के विरोध में जनता सड़कों पर है और भाजपा की यह इच्छा पूरी नहीं होगी।
सभा को ऋषि दत्त त्यागी, संतराम नंबरदार, टेकचंद नंबरदार, सुखपाल त्यागी, जसवंत त्यागी, पूर्व सरपंच शिवकुमार त्यागी व भनकपुर से मास्टर रामपाल गंगालाल व संपूर्ण सिंह ने भी संबोधित किया सिकरोना से सिकरोना से किशन सिंह सरपंच।