कोरोना से रोकथाम के लिए जे.सी. बोस विश्वविद्यालय ने उठाये कारगर कदम

0
157

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 31 मार्च – कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने विभिन्न पाठ्यक्रमों के प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों की 8 अप्रैल, 2021 से आयोजित होने वाली अंतिम सेमेस्टर परीक्षा ऑनलाइन करवाने का निर्णय लिया है। इससे पहले, प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों के लिए अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं ऑफलाइन मोड में आयोजित की जानी थीं।
यह निर्णय कुलपति प्रो. दिनेश कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया है, जिसमें विश्वविद्यालय द्वारा कोरोनावायरस के संक्रमण से रोकथाम के लिए उठाए गए विभिन्न एहतियाती कदमों की समीक्षा की गई। बैठक में कुलसचिव डाॅ. एस.के. गर्ग, सभी विभागाध्यक्ष और विश्वविद्यालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया।
बैठक में बताया गया कि कोरोनावायरस के प्रसार की रोकथाम के दृष्टिगत विश्वविद्यालय द्वारा आनलाइन कक्षाओं का आयोजन किया जा रहा है। प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों को छोड़कर सभी पाठ्यक्रमों की परीक्षाएं आनलाइन आयोजित की जा चुकी है। चूंकि अब विश्वविद्यालय प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों के लिए आनलाइन परीक्षाओं का आयोजन करने जा रहा है, इसलिए सभी छात्रावासों को खाली करवा लिया गया है। इसके अलावा, विश्वविद्यालय का वार्षिक उत्सव कलमायका भी आनलाइन मोड में ही आयोजित किया जायेगा।
विश्वविद्यालय द्वारा उठाए जा रहे एहतियाती उपायों की समीक्षा करते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कोरोना वायरस से रोकथाम के लिए साफ-सफाई एवं सेनिटाइजेशन व्यवस्था को सुनिश्चित बनाने के लिए कहा। उन्होंने विश्वविद्यालय में कोरोना की जांच के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट और कोविड-19 टीकाकरण व्यवस्था के लिए भी निर्देश दिये। इस संबंध में विश्वविद्यालय द्वारा जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी को विश्वविद्यालय में आरटी-पीसीआर टेस्ट और कोविड-19 टीकाकरण व्यवस्था के लिए आग्रह किया गया है।
विश्वविद्यालय के चिकित्सा अधिकारी डॉ. अंकुर शर्मा ने बताया कि 1 अप्रैल, 2021 को जिला अस्पताल के सहयोग से विश्वविद्यालय परिसर में कोविड-19 टीकाकरण शिविर का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें सरकार के दिशा-निर्देशों की अनुपालना करते हुए विश्वविद्यालय के पात्र कर्मचारियों का कोरोना टीकाकरण किया जायेगा।