जे.सी. बोस विश्वविद्यालय में एक सप्ताह का फैकल्टी डेवलेपमेंट कार्यक्रम शुरू

0
184

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 24 नवम्बर। जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद के इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग विभाग द्वारा “वर्ष 2020 के बाद माइक्रोइलेक्ट्रॉनिक के लिए उपकरणों का टीसीएडी सिमुलेशन” विषय पर एक सप्ताह का ऑनलाइन संकाय विकास कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। यह कार्यक्रम टीईक्यूआईपी-3 के तहत प्रायोजित है।
एकेडमी ऑफ साइंटिफिक एंड इनोवेटिव रिसर्च के चांसलर डॉ. चंद्र शेखर कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में मुख्य अतिथि रहे। सत्र की अध्यक्षता कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने की। सीईईआरआई पिलानी के पूर्व निदेशक डॉ. राज सिंह, नैना सेमीकंडक्टर प्राइवेट लिमिटेड से डॉ. अनिल कुमार और कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से प्रो. बी प्रसाद सत्र के आमंत्रित वक्ताओं में शामिल रहे। सत्र को कुलसचिव डॉ. सुनील कुमार गर्ग, डीन एफईटी प्रो. एम.एल. अग्रवाल और इलेक्ट्रॉनिक्स की विभागाध्यक्ष प्रो. नीलम तुर्क ने भी संबोधित किया।
इस अवसर पर बोलते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने प्रतिभागियों को कार्यशाला में सक्रिय रूप से भाग लेने के लिए प्रेरित किया। अपने संबोधन में डॉ. चंद्र शेखर ने माइक्रोइलेक्ट्रॉनिक के नवीनतम रुझानों के बारे में जानकारी दी।
इससे पहले प्रो नीलम तुर्क ने कार्यक्रम का संक्षिप्त परिचय दिया। प्रो. एम. एल. अग्रवाल ने विषय के महत्व के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम की समन्वयक सुश्री रश्मि चावला ने बताया कि कार्यक्रम में एनआईटी हमीरपुर, बिड़ला विश्वकर्मा महाविधालय गुजरात, दीनबन्धु छोटूराम विश्वविद्यालय मुरथल, गुरू जम्भेश्वर विश्वविद्यालय हिसार, उत्तर महाराष्ट्र विश्वविद्यालय, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, दिल्ली विश्वविद्यालय, डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम तकनीकी विश्वविद्यालय लखनऊ, एमआरआईएस विश्वविद्यालय, अभिलाषी विश्वविद्यालय मंडी, आईआईएमटी नोएडा, राज्य इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी संस्थान नीलोखेड़ी, एमिटी विश्वविद्यालय से प्रतिभागी हिस्सा ले रहे हैं। सत्र का समापन कुलसचिव डॉ. सुनील कुमार गर्ग द्वारा धन्यवाद प्रस्ताव के साथ हुआ।