पुलिस की पाठशाला कार्यक्रम का उद्देश्य लोगों को उनके अधिकारों के बारे में जागरूक करके समाज में शांति स्थापित करना : ओ पी सिंह

0
225
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह ने आज पुलिस लाइन फरीदाबाद में पुलिस की पाठशाला कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए सभी थाना व चौकी के अनुसंधान अधिकारियों के अनुसंधान स्तर की गुणवत्ता में ओर अधिक सुधार लाने के लिए प्रोत्साहित किया।
इस कार्यक्रम में श्री ओपी सिंह के साथ सहायक पुलिस आयुक्त श्री आदर्शदीप सिंह व प्रत्येक थाना व चौकी से अनुसंधान अधिकारी मौजूद रहे।
इस कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए पुलिस आयुक्त ने बताया कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य अनुसंधान अधिकारियों द्वारा किस प्रकार लोगों की सहायता की जाए इसके बारे में ट्रेनिंग दी गई और पुलिसकर्मचारियों को  लोगों की कानूनी सहायता करने के लिए प्रोत्साहित किया गया।
आज के इस कार्यक्रम का उद्देश्य सड़क दुर्घटनाओं में अनुसंधान अधिकारियों द्वारा नागरिकों की कानूनी व आर्थिक सहायता करने के लिए प्रेरित करना था।
सड़क दुर्घटनाओं के बारे में अनुसंधान अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए बताया गया कि सड़क दुर्घटनाओं में घायल व्यक्ति की मदद के लिए सरकार द्वारा आर्थिक सहायता दी जाती है जिसके लिए अनुसंधान अधिकारियों को क्लेम फॉर्म भरना होता है ताकि लोगों को आर्थिक रूप से मदद मिल सके।
अनुसंधान अधिकारी द्वारा क्लेम फॉर्म भरने के पश्चात ही दुर्घटना में घायल हुए लोगों को सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता मिल सकेगी जिससे लोग अपना इलाज बेहतर ढंग से करवा सकेंगे।
इसके साथ ही उन्होंने ट्रैफिक एसएचओ को भी निर्देश दिए कि किसी भी प्रकार की सड़क दुर्घटना में लोगों की हर संभव मदद की जाए और दुर्घटना में घायल व्यक्तियों को जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाया जाए ताकि उनकी जान बचाई जा सके।
पुलिस आयुक्त द्वारा सभी अनुसंधान अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वह हर प्रकार से लोगों की सहायता करें ताकि लोगों में कानून के प्रति विश्वास बना रहे।
पुलिस आयुक्त ने बताया कि पुलिस की पाठशाला कार्यक्रम समय-समय पर आयोजित किया जाएगा और पुलिस अधिकारियों द्वारा लोगों को भी इसके बारे में जागरूक किया जाएगा ताकि लोग कानून के प्रति जागरूक हो और अपने अधिकारों के लिए उत्तम तरीके से पुलिस प्रशासन की सहायता ले सकें।
पुलिस आयुक्त ने बताया कि पुलिस प्रशासन का कार्य लोगों की सुरक्षा के साथ साथ उन्हें हर प्रकार की कानूनी सहायता प्रदान करना भी है जिसके लिए वह हर समय प्रयासरत रहेंगे और अपने अधीनस्थ पुलिसकर्मियों को भी लोगों की सहायता करने के लिए प्रोत्साहित करते रहेंगे।