‘इंडिया अनलीश-फाइट नाइट’ के साथ पेशेवर बाक्सिंग को पहली बार मिलेगा प्रो टच

0
197

New Delhi Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 5 मार्च। एलजेड प्रोमोशन अपने ‘अनलीश इंडिया’ फाइट नाइट के माध्यम से 1 मई को पहली बार भारत में पेशेवर मुक्केबाजी की ताकत को पेश करने जा रहा है। यह फाइट जलंधर में होगी।

पेशेवर मुक्केबाजी ने दुनिया भर में लोगों का दिल जीता है लेकिन यह अब तक भारत में अपनी पैठ नहीं जमा सका है। अपने इसी मकसद को पूरी करने के साथ-साथ भारतीय मुक्केबाजों को उनकी जिंदगी में रौनक लाने का मौका देने के लिए पर्म गोराया ने भारत में पहली बार प्लान्ड फाइट नाइट्स का आयोजन करने का फैसला किया है।

‘अनलीश्ड इंडिया’ भारतीय मुक्केबाजी कमिशन (आईबीसी) द्वारा मान्यता प्राप्त इवेंट है। गोराया अमेरिका में होने वाली बाक्सिंग के फारमेट के आधार पर बदलाव लाना चाहते हैं और उनका मकसद भारतीय पेशेवर मुक्केबाजों की जिंदगी में बदलाव लाना है।

गोराया एक दूसरी पीढ़ी के ब्रिटिश भारतीय हैं। वह नेवादा स्टेट एथलेटिक कमीशन (NSAC) के साथ पंजीकृत प्रोमोटर हैं। वर्ल्ड बॉक्सिंग काउंसिल (डब्ल्यूबीसी) और इंटरनेशनल बॉक्सिंग फेडरेशन (आईबीएफ) के साथ उनके मजबूत ताल्लुकात हैं। गोराया को पता है कि जमीनी स्तर से एक मुक्केबाज को उठाकर उसे पेशेवर मुक्केबाज बनाने में क्या-क्या करना पड़ता है।

एलजेड प्रोमोशंस के सीईओ गोराया ने शुक्रवार को यहां आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा,  “निश्चित रूप से भारत में प्रो बॉक्सिंग को लेकर बहुत संभावनाएं हैं। इसे बस एक सुव्यस्थित पारिस्थितिकी तंत्र (इको सिस्टम) और एक दृष्टिकोण की जरूरत है। ‘अनलीश्ड इंडिया’ फाइट नाइट हमारा एक प्रयास है और साथ ही साथ यह भारत में प्रो-बॉक्सिंग को हिट बनाने के लिए सही दिशा में लया गया एक कदम भी है। मुझे यकीन है कि ‘अनलीश्ड इंडिया’ एक बेंचमार्क स्थापित करेगा और देश में मुक्केबाजों के विकास में योगदान देगा। मेरी योजना है कि इस तरह के और अधिक फाइट्स हों और एक पेशेवर भारतीय सर्किट की शुरुआत की जाए, जो गुणवत्तापूर्ण फाइट्स की गारंटी देता हो।’ ’

द ग्रेट खली नाम से मशहूर द वलर्ड रेसलिंग एंटरटेनमेंट (डब्ल्यूडब्ल्यूई) के स्टार दलीप सिंह ने गोराया और भारत में पेशेवर मुक्केबाजी को सही दशा और दिशा देने के उनके प्रयासों को अपना समर्थन दिया है। इसीलिए पहली फाइट्स नाइट्स का आयोजन जलंधर स्थित खली की अकादमी में कराने का फैसला किया गया है।

द ‘अनलीश्ड इंडिया’ फाइट नाइट में 10 फाइट कार्ड शामिल होंगे, जिसमें देश के शीर्ष 20 प्रतिभाओं (टैलेंट्स) को शामिल किया जाएगा। रात के लिए स्टार आकर्षण पवन गोयत, चांदनी मेहरा (फीदरवेट) और सुमन कुमारी (लाइटवेट) होने जा रहे हैं। तीनों के बीच, गोयट खिताब के दावेदार माने जे रहे हैं।

बॉक्सिंग एक ऐसा खेल है जिसमें हमेशा से जमीन से आसमान तक पहुंचने जैसी कहानियों की भरमार रही है। उनमें से ही एक हैं युवा अफगानी मुक्केबाज, नवाज मोहम्मदी। मोहम्मदी एक अफगान शरणार्थी हैं। मोहम्मदी अपने परिवार को बेहतर जिंदगी देना चाहते हैं और इसी कारण फाइट नाइटस के माध्यम से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।

द ‘अनलीश्ड इंडिया’ फाइट नाइट  को लेकर गोयट ने कहा “एक मुक्केबाज के रूप में यह फाइट नाइट मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। मैं दो साल के बाद रिंग के अंदर कदम रखूंगा और इस फाइट को जीतने को लेकर मैं चिंतित हूं। यह न केवल मेरे लिए बल्कि अन्य भारतीय मुक्केबाजों के लिए एक नाम बनाने और खुद को स्थापित करने का सही मौका है। मैं मुकाबले के लिए उत्सुक हूं और इससे मुझे अपना आत्मविश्वास बढ़ाने में मदद मिलेगी।”

फाइट नाइट के दौरान कोरोना सम्बंधी सभी प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा और पहली फाइट की रात सीमित संख्या में लोग एरेना में होंगे।