राष्ट्रीय महिला जागृति मंच ने ऑनलाइन मदर्स डे सेलिब्रेशन पर 100 माताओं को किया सम्मानित

0
305
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : कोरोना वायरस महामारी की वजह से हुए लॉक डाउन के चलते राष्ट्रीय महिला जागृति मंच ने 10 मई को ऑनलाइन मदरस डे एक्टिविटी का आयोजन किया। जिसमें भारत के विभिन्न राज्यों से महिलाओं ने भाग लिया। मंच की राष्ट्रीय चेयरपर्सन श्रीमती अंबिका शर्मा जी ने अपने संदेश के माध्यम से सभी माताओं को मातृ दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई दी। मंच ने महिलाओं के लिए कई तरह की प्रतियोगिता रखी जिसमें महिलाओं को जागरूकता से भरी अपनी फोटो/वीडियो भेजनी थी और स्लोगन और कविताओं के माध्यम से मातृशक्ति के महत्व को बताना था। देश भर से सभी मातृ शक्तियों से रियल मदर 2020 के लिए आवेदन आमंत्रित किये गए थे। देशभर से चुनींदा लगभग 20 माताओं को “रियल मदर 2020” सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया गया। इन महिलाओं में ऐसी माताओं को सम्मान पत्र दिए गए जिन्होंने अपने जीवन काल में कठिन प्रयास से अपने बच्चों को अपने पांव पर खड़ा कर एक मुकाम हासिल करवाया था।
सभी महिलाओं द्वारा खूबसूरत अंदाज में देशवासियों को जागरूक किया गया। जागरूकता सन्देश वाली लगभग 10 महिलाओं को “बेस्ट अवेरनेस पिक’ का सम्मान पत्र दिया गया। किसी ने अपने बच्चों के साथ नए पौधे लगाए, किसी ने अपने बच्चों को पढ़ाते हुए, अपने बच्चों को दादा दादी की सेवा करते हुए अपनी तस्वीर भेजी। चुनिंदा अच्छी फोटोज भेजने वाली 50 महिलाओं को “बेस्ट फोटो” का सम्मान पत्र दिया गया। 10 उन माताओं को भी “बेस्ट आर्टिकल” का सम्मान पत्र मिला जिन्होंने माँ के ऊपर सुंदर सुंदर स्लोगन और कविताओं के माध्यम से अपने संदेश भेजें थे। 10 सम्मान पत्र उन माताओं को भी दिए गए जिन्होंने अपनी लगन और प्रेरणा से अपने परिवार अपने बच्चों को उच्च शिक्षा दी ओर साथ साथ समाज को भी जागरूक किया। करीब 100 महिलाओं को सम्मान पत्र दिए गए।
चेयरपर्सन अंबिका शर्मा जी ने ऑनलाइन संदेश के माध्यम से सभी प्रतियोगियों के नाम घोषित किए। सभी में एक असीम उत्साह था। सभी अपना नाम सुनने की उत्सुकता में बड़े बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। लग ही नहीं रहा था की ये एक ऑनलाइन एक्टिविटी है। अंबिका शर्मा जी ने नारी शक्ति को बहुत उत्साहित किया और आगे भी देश के लिए कार्य करने की प्रेरणा दी। उन्होंने अपने संदेश में कहा कि मुझे बहुत अच्छा लगा नारी शक्ति के इस उत्साह को देखकर। अंत में उन्होंने सभी माताओं को अपने बच्चों के उज्जवल भविष्य के लिए कामना की सभी महिलाओं ने उनके इस कार्य की प्रशंसा की। इस तरह के प्रोग्राम महिलाओं में एक नई चेतना जागृत करती हैं, महिलाओं को आगे बढ़ने का अवसर मिलता है । अम्बिका जी ने कहा कि उन्हें अपनी मातृशक्ति पर गर्व महसूस होता है मातृशक्ति देश के लिए गर्व की बात है।