बौद्धिक व रचनात्मक विकास को समर्पित रहा महिला एवं बाल विकास विभाग के सेमिनार का दूसरा दिन

0
168

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 24 मार्च। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित किए जा रहे सुपरवाईजर एवं सीडीपीओ प्री स्कूल ट्रैनिंग कार्यक्रम के दूसरे दिन सर्वांगीण विकास विषय पर सेमिनार आयोजित किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत प्रार्थना ऐ मालिक तेरे बंदे हम से शुरुआत हुई। इसके पश्चात सर्वांगीण विकास विषय पर प्रतिभागियों के लिए एक बौद्धिक सेमिनार आयोजित किया गया।
इस संबंध में जानकारी देते हुए मुक्चय प्रशिक्षक अनिल यादव ने बताया कि प्रतिभागियों को पांच समूह में रंग के नामों पर बांटकर सर्वांगीण विकास के आयामों शारीरिक विकास, बौद्धिक विकास,  सामाजिक व भावनात्मक विकास, भाषा विकास तथा रचनात्मक विकास पर गतिविधि के माध्यम से चर्चा हुई। सभी ग्रुपों ने चार्ट के माध्यम से अपनी प्रस्तुति दी जिसमें संबंधित विकास के मुख्य बिंदुओं तथा गतिविधियों को प्रस्तुत किया। इसके बाद बौद्धिक विकास पर विस्तृत रूप से चर्चा हुई। इसमें प्रत्येक ग्रुप को अलग-अलग गतिविधियां दी गई। इसमें पैटर्न वर्गीकरण अनुक्रम मिलान व खजाने का पिटारा थी जिन्हें उन्होंने रोल प्ले के माध्यम से प्रस्तुत किया। इसके साथ-साथ प्रतिभागियों द्वारा  बाल गीत भी प्रस्तुत किए गए । साथ ही जिंगा गतिविधि द्वारा  प्रतिभागियों में जोश भरा  गया तथा अगले पड़ाव में  शारीरिक विकास पर चर्चा की गई जिसमें सभी प्रतिभागियों को समूह में बांटकर बाहर ले जाकर विभिन्न शारीरिक गतिविधियों को करवाया गया जिसमें सभी ने अपनी प्रतिभागिता दी। जिला कार्यक्रम अधिकारी अनीता शर्मा ने स्वयं गतिविधि में शामिल होकर सभी प्रतिभागियों को प्रोत्साहित किया। सभी प्रतिभागियों से  सामान निर्माण का कार्य करवाया गया जिसमें उनको बौद्धिक विकास व शारीरिक विकास को आधार मानते हुए सामान का निर्माण किया गया ताकि वह प्रैक्टिस क्लास में इनका प्रयोग कर सकें। आज दूसरे दिन प्रशिक्षण के दूसरे दिन सभी प्रतिभागी उपस्थित थे। इनमें मास्टर ट्रेनर्स के साथ साथ प्रथम टीम से अनीता बिष्ट, सीमा परवीन व  शीतल उपस्थित रही,  जिन्होंने प्रशिक्षण की बारीकियों को प्रतिभागियों से साझा किया। प्रशिक्षण की सभी गतिविधियां मास्टर ट्रेनर्स अनिल यादव रेनू चौधरी माया देवी और आशा द्वारा क्रियान्वित की गई।