परीक्षा की तैयारी के लिए लक्ष्य निर्धारित करे : यशपाल यादव

0
315

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 21 जनवरी उपायुक्त यशपाल ने कहा कि बच्चों को लक्ष्य निर्धारित कर और दबावरहित होकर परीक्षा के लिए तैयारी करनी चाहिए। पढ़ाई के साथ-साथ बच्चों को प्रतिदिन शारीरिक गतिविधियां में भी भाग लेना चाहिएं, ताकि स्वस्थ तन व मन एकाग्र रहे।
उपायुक्त यशपाल मंगलवार को सेक्टर-15 स्थित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अरजौंदा में दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों को परीक्षा की तैयारियों के मद्देनजर उन्हें मोटिवेट कर रहे थे। उपायुक्त ने बच्चों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि इस बार इस स्कूल के सभी बच्चों ने बोर्ड परीक्षाओं में शत-प्रतिशत परिणाम लाना है। इसके लिए बच्चे योजनाबद्ध तरीके से तैयारी करना आरंभ कर दें। पढ़ाई के लिए समय का शैड्यूल बना लें तथा प्रतिदिन उस शैड्यूल को फाओ करते हुए नियत समय अवश्य निकालें। जब पढ़ाई कर रहे हों तो ध्यान कहीं और नहीं भटकना चाहिए, इसके लिए मन को एकाग्र रखें। परीक्षा की तैयारी जितनी एकाग्रता के साथ की जाएगी, सलेबस को उतना ही आसानी से याद किया जा सकेगा। पढ़ाई के दौरान बच्चे किसी भी प्रकार का तनाव बिल्कुल ना रखें।
उपायुक्त ने बच्चों से परीक्षा की तैयारी में मदद के लिए जो विडियो बनाकर भेजी गई थी, के बारे में पूछा तो बच्चों ने बताया कि उन विडियो से उन्हें काफी मदद मिल रही है। उपायुक्त ने स्कूल स्टाफ का आह्वान करते हुए कहा कि वे बच्चों की तैयारी अच्छी प्रकार से करवाएं तथा इस बार इस स्कूल का परीक्षा परिणाम तभी बेहतर आएगा, जब सभी मिलकर मेहनत करेंगे। उन्होंने कहा कि अध्यापक समय-समय पर बच्चों को मोटिवेट भी करते रहे हैं। इस बार बच्चे आपस में प्रतिस्पर्धी बने तथा एक-दूसरे से अधिक अंक लेने की होड़ लगाएं और मेहनत करें। उपायुक्त ने कहा कि लड़कियां अच्छी मेहनत कर रही हैं। अतः लड़कों को भी लड़कियों से सीख लेते हुए अच्छी तैयारी करनी है। उपायुक्त ने कहा कि प्रदेश सरकार का प्रयास कि सरकारी स्कूलों का बोर्ड परीक्षा परिणाम बेहतर बनाया जाए। इसके लिए अधिकारी भी आगे आकर बच्चों को स्पोर्ट करें। उपायुक्त ने इस अवसर पर बच्चों से सीधा संवाद किया तथा बच्चों को भी पढ़ाई के प्रति काफी मोटिवेट पाया। इस अवसर पर स्कूल के प्रिंसीपल तुलसीराम व अन्य स्कूल स्टाफ उपस्थित थे।