कई संगठनों ने मिलकर सैक्टर-22 मछली मार्किट को हटवाने हेतु अभियान की शुरूआत

0
291

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj :20 मई। लाॅकडाउन के चलते जहां सभीसंगठन एवं संस्थान जनहित के कार्यों में लगे हुए थे वहीं आज कई संगठनों ने मिलकर सैक्टर-22 मछली मार्किट को हटवाने हेतु अभियान की शुरूआत कर दी। ज्ञातहो की सैक्टर-22 में हरियाणा सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त मछली मार्किट है। जहां परलोग मछली खरीदने हेतु जाते हैं। इस मार्किट को हटाने के लिए पहले भी कईशिकायते हुई हैं और अब एक बार फिर समाजिक संगठन श्री राम गौ रक्षा दल, महिला एवंबाल विकास परिषद्, श्री राम युवा सेना, फरीदाबाद विकास परिषद इत्यादि नेप्रशासनिक अधिकारियों को शिकायत दी है। संगठनों का कहना है कि मछली की गंदगीसे आसपास के क्षेत्रों में बदबू फैली हुई है तथा आजकल जब विश्व में करोना वायरसजैसी महामारी फैली हुई है ऐसे में भी इस मार्किट में सफाई का कोई प्रबंध नहींहै। मरी हुई खराब मछलीयों व मांस के टुकड़ों को वहीं फेंक दिया जाता है जिससेवह सड़ कर दुर्गन्ध व बिमारी फैलाती हैं। साथ ही साथ इन संगठनों ने कहा कि यहमीट मार्किट रिहायशी क्षेत्र में बनी हुई है। जिससे जो लोग मांस नहीं खाते हैंउनका इस क्षेत्र से निकलना भी मुश्किल है व मछली मार्किट के पास ही अनेक धार्मिक स्थलबने हुए हैं परन्तु इस दुर्गन्ध के कारण हम लोग पूजा करने भी नहीं जा सकते। फरीदाबाद विकास परिषद् ने उपरोक्त संगठनों के साथ मिलकर के एक कमेटी कागठन किया है जोकि एडवोकेट राकेश शर्मा व वासुदेव आर्य की अध्यक्षता में इस मीटमार्किट को हटवाने के लिए आगे की कार्यवाही करवाने हेतु प्रशासनिक अधिकारियों सेमुलाकात करेगी व यदि प्रशासनिक अधिकारियों ने इस मार्किट को नहीं हटवाया तोएडवोकेट राकेश शर्मा की अध्यक्षता में ही यह हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायरकरेगी। इस कमेटी के अध्यक्ष एडवोकेट राकेश शर्मा ने बताया कि करोना वायरस के चलतेसभी दुकानदारों के लिए दिशा निर्देश आए हैं लेकिन मछली मार्किट सैक्टर-22तो लगातार खुली है व यहां सफाई का भी कोई प्रबंध नहीं है न तो दुकानदार मास्कका इस्तेमाल करते हैं व न ही 2 गज के सामाजिक नियम का पालन करते हैं और न हीकोई साफ सफाई के नियमों का पालन करते हैं। ऐसे में यह दुकाने खुले रहने सेकरोना वायरस जैसी बिमारी के फैलने का खतरा और अधिक बढ़ जाता है। प्रशासनको चाहिए की जल्द ही इस पर संज्ञान लेते हुए उचित कार्यवाही करे। इन दुकानदारों का करोनाटेस्ट करवाए व तुरन्त बन्द करवाने का आदेश पारित करे।