सिपाही ने दिया ईमानदारी का परिचय, गुम हुआ मोबाइल उसके मालिक तक पहुंचाया

0
206

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : परिस्थितियां चाहे कैसे भी हो परंतु जब इंसान इमानदारी का रास्ता चुन लेता है तो लालच रूपी बड़ी से बड़ी चुनौतियां उसके सामने घुटने टेक देती हैं।

ईमानदारी का ऐसा ही परिचय दिया है पुलिस चौकी सेक्टर 15A में कार्यरत सिपाही कुलदीप ने।

कल शाम जब सिपाही कुलदीप अपनी चौकी के बाहर सड़क पर गश्त कर रहे थे तो उन्हें रास्ते में सड़क पर गिरा हुआ एक मोबाइल दिखाई दिया।

सिपाही ने फोन उठाया और देखा तो मोबाइल स्विच ऑफ हो चुका था। यह मोबाइल रेडमी कंपनी का था। यदि पुलिसकर्मी चाहता तो मोबाइल को अपने पास रख सकता था परंतु ईमानदारी का परिचय हुए उसमें से उसके मालिक तक पहुंचाने का निश्चय किया।

पुलिसकर्मी ने आसपास के लोगों से इसके मालिक के बारे में पूछताछ की परंतु किसी को उसके मालिक के बारे में पता नहीं था।

इसके बाद पुलिसकर्मी ने मोबाइल फोन ऑन परंतु मोबाइल ऑन नहीं हो सका तो सिपाही ने उसकी सिम दूसरे मोबाइल में डाल दी ताकि कोई उस पर संपर्क करने की कोशिश करें तो उन्हें मोबाइल के बारे में बताया जा सके।

दूसरे फोन में सिम डालने के पश्चात उस नंबर पर उसके मालिक का फोन आया तो सिपाही ने उसे अपना मोबाइल लेने के लिए पुलिस चौकी में बुला लिया।

फोन का मालिक फोन लेने के लिए पुलिस चौकी में आया और उसने बताया कि उसका नाम रंजीत है। वह पलवल जिले का रहने वाला है तथा मेट्रो हॉस्पिटल में कार्यरत है।

जब यह सत्यापित हो गया कि मोबाइल उसी का है तो इसे सकुशल उसके हवाले कर दिया गया।

मोबाइल मिलने के पश्चात रंजीत बहुत खुश हुआ और उसने पुलिसकर्मी की ईमानदारी और पुलिस के सौहार्द्यपूर्ण व्यवहार के लिए उनका धन्यवाद किया।

पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह ने सिपाही की इमानदारी के लिए उसे प्रशंसा पत्र देकर प्रोत्साहित करते हुए भविष्य में ऐसे ही इमानदारी से अपना कर्तव्य निभाने के लिए प्रेरित किया।