महाराणा प्रताप जयंती पर कोरोंना से  डरने का नहीं लड़ने का संकल्प लें : उमेश भाटी

0
288
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : पूर्व प्रत्याशी तिगाँव विधानसभा ठाकुर उमेश भाटी ने कहा कि 9 मई एक ऐसे अनन्य हिन्दू वीर का जन्मदिन है जिसने देश की आन-बान-शान और स्वाभिमान की खातिर मुगलों की अधीनता स्वीकार नहीं की और अनेकों कष्ट सहते हुए मुगल शासक अकबर से लोहा लेते हुए जीवनपर्यंत संघर्ष किया लेकिन मेवाड़ को मुगलों के आधीन नहीं होने दिया। क्षत्रिय कुल में जन्में ऐसे महाप्रतापी हिन्दुवा सूर्य की जयंती पर हम कोराना जेसी वेस्विक महामारी से डरने का नहीं बल्कि लड़ने का संकल्प ले ।महाराणा प्रताप सिंह जो 9 मई 1540 को उदयपुर, मेवाड में सिसोदिया राजपूत राजवंश में जन्मे थे। मुट्ठी भर सैनिकों के साथ और अस्त्र शस्त्र धन बल के भारी अभाव के चलते अकबर की विशाल और बलशाली सैन्य शक्ति से कई बार युद्ध कर उन्हें पराजित करने के कारण उनका नाम इतिहास में वीरता और दृढ प्रण के लिये अमर है। वो पूरी दुनिया के लिए एक ऐसे प्रेरणा स्रोत्र है जो अपनी शक्ति और पराक्रम के चलते स्वाभिमान के प्रतीक बने।
उमेश भाटी ने समस्त क्षेत्रवासीयो से आह्वान किया कि 9 मई को उनके 480वे जन्मोत्सव को  *स्वाभिमान_दिवस* के रूप में मनाएं और ऐसे महापराक्रमी वीर को अपनी पुष्पांजलि अर्पित कर उनके चरणों में नमन करते हुए देश की एकता और अखंडता की रक्षा के लिए प्रेरणा लें। इस दिन हम सब कोरोना महामारी के चलते घरों में रहकर उस वीर के सम्मान में घर के मुख्यद्वार पर रात्रि 8 बजे 5 दीपक जलाएं और  एकता का परिचय दें।