पृथला क्षेत्र में और तेजी से घूमेगा विकास का पहिया : नयनपाल रावत

0
58
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 21 फरवरी। हरियाणा भंडारण निगम के चेयरमैन एवं पृथला विधानसभा क्षेत्र के विधायक नयनपाल रावत ने गांव जवां में तीन चौपालों, गांव गढख़ेड़ा व अटेरना में करीब सवा करोड़ के विकास कार्याे का उद्घाटन कर उन्हें जनता को समर्पित किया। इस दौरान श्री रावत ने जहां गांव जवां में एचआरडीएफ स्कीम के तहत 70 लाख से बनी एससी सामुदायिक भवन, प्रजापत चौपाल, एससी चौपाल, गांव गढख़ेड़ा में 30 लाख की लागत से ग्राम पंचायत गढख़ेड़ा में सोलर लाईटिंग पाइप लाइन एवं सामुदायिक केंद्र तथा गांव अटेरना में 25 लाख रूपए की लागत से बनी जनरल व एससी चौपाल का उद्घाटन किया। इस मौके पर ग्रामीणों ने विकास कार्याे का उद्घाटन करने पर विधायक श्री रावत का फूल मालाओं से जोरदार स्वागत किया। इस अवसर पर उपस्थित ग्रामीणों को संबोधित करते हुए विधायक नयनपाल रावत ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आर्शीवाद से पृथला विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्य युद्धस्तर पर चल रहे है और कोरोना महामारी के दौरान विकास का जो पहिया थम गया था, अब देश व प्रदेश में कोरोना महामारी खात्मे की ओर है, ऐसे में अब क्षेत्र में विकास का पहिया और तेजी से घूमेगा और क्षेत्र के हर गांव का समान रूप से विकास किया जाएगा। कृषि बिलों पर बोलते हुए श्री रावत ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा लाए गए तीनों कृषि विधेयक पूरी तरह से किसानों के हितों में है, जो कि किसानों की आय को दोगुनी करने में सहायक सिद्ध होंगे, लेकिन कांग्रेस व अन्य विपक्षी दल किसानों को बरगलाकर देश का माहौल बिगाडऩे का प्रयास कर रहे है, लेकिन देश का अन्नदाता किसान जानता है कि मोदी-मनोहर सरकार कभी कोई ऐसा कानून नहीं लाएगी, जिससे किसानों या आमजन का अहित हो और पिछले छह सालों में केंद्र व प्रदेश सरकार ने जितनी भी योजनाएं क्रियान्वित की है, उसका लाभ आज हर वर्ग को मिल रहा है। उन्होंने ग्रामीणों से आह्वान किया कि वह विपक्षी दलों के भ्रामक प्रचार में न आकर क्षेत्र के विकास में अपना योगदान दें। इस अवसर पर शीशराम चौधरी, जयपाल, पं. उम्मेद, चौ. विरेंद्र, राजपाल प्रजापति, लखीराम, जगदीश रामसहाय, श्री लुहार, ठाकुर रोहताश, धर्मवीर रायसाहब, विवेक सैनी, उदयपाल प्रजापति, जयप्रकाश पंडित, नितिन सांगवान, हाजी यूनूस, हाजी खुदाबक्श, कामरान कमरू, मोहन नंबरदार, इलियास, मुबीन, नानक, अली मोहम्मद, अहमद हसन, आमीर, धर्मबीर, लेखराज पंत, जाकिर प्रहलाद, निखिल बीसला, लक्ष्मण तंवर एडवोकेट, ज्ञान कौशिक सहित अनेकों गणमान्य लोग मौजूद थे।