जिला बाल सरक्षण के सहयोग से दो बेसहारा बच्चियों को जर्मनी माता पिता मिले

0
314
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 6 दिसम्बर। बल्लभगढ़ एसडीएम अपराजिता के कुशल मार्ग दर्शन मे उपायुक्त यशपाल के दिशा निर्देशन मे जिला बाल सरक्षण ईकाई के सहयोग से दो बेसहारा बच्चियों को जर्मनी माता पिता मिल गए। इन दोनों बच्चियों को उनकी सहमति से नए माता पिता दिलवाने मे कानूनी प्रक्रिया को पूरा करने में जिला बाल सरक्षण ईकाई की टीम, जिला बाल सरक्षण अधिकारी गारिमा सिंह ने अहम् भूमिका निभाई। साथ ही सीडीपीओ अनिता शर्मा विशेष सहयोग मिला।
जिला बाल सरक्षण अधिकारी गारिमा सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि गत वर्ष नवम्बर माह मे बल्लभगढ़ बस स्टैंड परिसर मे लगभग 5 और 6 वर्ष की दो लड़कियों को उनके माता पिता लावारिस हालत में छोड़कर चले गए। लोगों ने इनकी सूचना पुलिस को दी।पुलिस द्वारा भी इन दोनों लड़कियों के माता पिता को ढूंढने का मिडिया तथा विभागीय कार्यवाही करके पूरा प्रयास किया गया।
गारिमा सिंह ने बताया कि बाल सरक्षण ईकाई द्वारा आन लाइन पोर्टल पर मिरकले चैरीटेबल सोसायटी के सहयोग से दोनों बच्चियों को जर्मनी माता पिता मिले हैं। उन्होंने आगे बताया कि इस जर्मनी कप्पल के पास पहले भी दो बेटियाँ है। जिला बाल सरक्षण ईकाई द्वारा गोद लेने की सारी कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के उपरांत दोनों बच्चियों को जर्मनी माता पिता को सौंप दिया गया है।
एडोप्शन प्रक्रिया में बाल सरक्षण ईकाई के अध्यक्ष श्रीपाल कहराना, सीडीपीओ अनिता शर्मा तथा जिला बाल सरक्षण अधिकारी गारिमा सिंह तोमर ने प्रशासनिक तौर पर सारी प्रक्रिया पूरी करवाई।