फरीदाबाद में पशुओं, जीव जंतुओं के लिए अलग से हो चारागाह व तालाबों की व्यवस्था: अम्बिका शर्मा

0
194

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : देव मानव सेवा ट्रस्ट, राष्ट्रीय महिला जागृति मंच व केसरिया भारत अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दू संगठन की संस्थापक व अन्तर्राष्ट्रीय अध्यक्ष अम्बिका शर्मा जी का कहना है कि फरीदाबाद जिले में चारों दिशाओं के हर बाहरी कोनों पर पशुओं ओर जीव जन्तुओं के लिए चारागाह व तालाबों का निर्माण होना चाहिए। फरीदाबाद में “बनेगा स्वच्छ फरीदाबाद” के तहत हर समाज सेवी को सड़कों व गलियों को गंदगी मुक्त करने का कार्य दिया गया है। हर तरफ ये बात चल रही है कि पशुओ के गोबर से गन्दगी होती है, पशु कूड़ेदान में पॉलीथिन खाते है। लेकिन क्या किसी ने ये सोचा है कि ये पॉलीथिन कूड़ेदान में डालता कौन है, पशुओं को कूड़ेदान में पॉलीथिन खाने के लिए मजबूर किसने किया है, पशुओं को गली गली घूमने ओर गंदगी करने के लिए मजबूर किसने किया है, पशुओं के चारागाह और पानी पीने और उनके नहाने के तालाब किसने छीने हैं। इंसान अपनी सहूलियतों में इतना खो गया है कि पशुओं के खाने पीने, नहाने की जगह पर कब्जा करके अपने बैठने के लिए पार्कों का निर्माण करता जा रहा है। ईश्वर ने सबको जीवन दिया और सबको भोजन और पानी का अधिकार है। हम अपनी सुख सुविधाओं में इतना खो गए है कि इन बेजुबानों के जीवन को खतरे में डालते जा रहे है ओर इनके चारागाह, तालाबों की जगह मकान, पार्क, बड़ी बड़ी इमारतें बनाते जा रहे हैं। एक दिन ये सभी जीव जंतु भोजन और पानी के अभाव में विलुप्त हो जायेगें ओर हमारी आने वाली पीढ़ी इन्हें सिर्फ किताबों में ही पढ़ पाएगी।

अम्बिका शर्मा ने कहा है कि फरीदाबाद जिले के चारों तरफ बाहरी किनारे पर चरागाहों और तालाबों का निर्माण किया जाना चाहिए ताकि आवारा पशुओं के लिए भी अपनी एक जगह बन सके जहाँ वे हर रोज अपने चारा खा सकें और पानी पी सकें। इससे यह होगा कि वे गली गली चारे ओर पानी की तलाश में गली गली नही घूमेंगे ओर जगह जगह गन्दगी भी नही करेंगे ओर ना ही पॉलीथिन खाकर भयंकर बीमारी से ग्रस्त होकर पीड़ादायक मौत मरेंगे।