क्राइम ब्रांच 48 ने हथियारों के बल पर एक ही रात में चार वारदात कर दहशत फ़ैलाने वाले गिरोह के तिसरे सदस्य को भी किया गिरफ्तार

0
354
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह के दिशा निर्देशों के तहत कार्य करते हुये क्राइम ब्रांच सेक्टर-48 की टीम ने फरीदाबाद में दिनाँक 06 मई की रात को गुडगाँव कैनाल बल्लबगढ़ के पास से राहगीर से गाड़ी, रूपये तथा उसका मोबाइल फोन हथियारों के बल पर लुट करने वाले गिरोह के एक ओर सदस्य अनीश उर्फ़ राजू को गिरफ्तार किया है।
पुलिस इससे पहले गिरोह के दो सदस्यों चिन्टू उर्फ़ चरणजीत व राहुल बंगाली को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। गिरफ्तार दोनों आरोपियों को अदालत में पेश करके तीन दिन का पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ की जिसमे सामने आया कि आरोपियों ने हथियारों से फायरिंग करके एक ही रात में अलग-2 जगह पर चार वारदातों को अंजाम दिया था।
06 मई की रात आरोपियों ने सबसे पहले ड्यूटी से लौट रहे प्रधान सिपाही कुशल कुमार की कार रुकवाकर उसे लूटने की कोशिश की थी परन्तु असफल होने पर पिस्तौल से फायर करके वहां से फरार हो गए। इसके बाद बाईपास पर चावला कॉलोनी के पास टैक्सी चालक से पिस्तौल के बल पर उसकी कार लूटी थी। कार लेकर आरोपी सुभाष कॉलोनी पहुंचे जहाँ उन्होंने आकाश नामक युवक पर चलाई जिसमे वह बाल-बाल बच गया। इसके पश्चात् आरोपियों ने दयालपुर में भी एक युवक पर गोली चलाई थी।
इससे पहले आरोपियों ने छांयसा थानाक्षेत्र से पिस्तौल दिखाकर एक मोटरसाइकिल, मोबाइल और पैसे लुटे थे| इसी मोटरसाइकिल पर सवार होकर आरोपियों ने टैक्सी ड्राईवर से कार लूटी थी।
क्राइम ब्रांच सेक्टर-48 प्रभारी राकेश कुमार की टीम ने कड़ी मस्श्कत करते हुए इस गिरोह के तीसरे आरोपी अनीश उर्फ़ राजू को कल IMT पुल के पास से एक देशी कट्टा व 9 जिन्दा रौंद तथा एक कारतुस खोल सहित गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की।
उक्त आरोपी बहुत ही शातिर किस्म के अपराधी है। आरोपी अपने खर्चे की पूर्ति के लिए तथा अपराध की दुनिया में अपना नाम कमाने के लिए आपराधिक वारदातों को अंजाम देते है।
आरोपी इससे पहले भी लूटपाट, लड़ाई-झगडा, चोरी व् अवैध हथियार के मुकदमो में जेल की हवा खा चूका है।
तीनो आरोपियों से पूछताछ पूरी होने एवं उनके के कब्जे से वारदात में प्रयोग मोटरसाइकिल, 2 देशी पिस्टल, 1 देशी कट्टा व 21 जिन्दा कारतूस व् 1 खोल बरामद कर आज अदालत में पेश किया गया, अदालत ने तीनो आरोपीयो को जेल भेज दिया।