गौ तस्करी के मुकदमे में 3 साल से फरार चल रहे 7वें आरोपी को क्राइम ब्रांच 56 ने किया गिरफ्तार

0
70

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : डीसीपी क्राइम नरेंद्र कादियान द्वारा फरार चल रहे अपराधियों की धरपकड़ के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच 56 प्रभारी राकेश कुमार की टीम ने 3 साल से फरार चल रहे गौ तस्करी के मुकदमे में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। फरीदाबाद पुलिस द्वारा इस मुकदमे के छह अन्य आरोपियों को पहले ही जेल भेजा जा चुका है जिसमें शौकीन उर्फ सुंडा, आजाद उर्फ टिमानी, इश्ताक, रईस, वसीम तथा तस्लीम का नाम शामिल है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम साबिर है जो मेवात के फिरोजपुर नमक गांव का रहने वाला है। आरोपी के खिलाफ गौ तस्करी, अवैध हथियार तथा हत्या के प्रयास की धाराओं के तहत मई 2019 में फरीदाबाद के सेक्टर 58 में मुकदमा दर्ज किया गया था जिसमें आरोपी ने अपने 6 अन्य साथियों के साथ मिलकर गौकशी का प्रयास किया था और पुलिस तथा गौ रक्षा दल को जान से मारने का प्रयास करते हुए उनपर गाड़ी चढ़ाने की कोशिश की थी। पुलिस को दी गई शिकायत के अनुसार गौ रक्षा दल के अशोक उर्फ बाबा ने बताया कि उन्होंने गोकशी कर रहे आरोपियों की सूचना क्राइम ब्रांच 56 को दी थी जिसके पश्चात क्राइम ब्रांच तथा गौ रक्षक दल मिलकर झाड़सेतली नाके पर पहुंचे और वहां पर गौ तस्करों को रोकने का प्रयास किया। गौतस्कर गाड़ी में गांववंशजो को भरकर वहां पर आए और पुलिस के रुकवाने पर उन्होंने गाड़ी नहीं रोकी और उनपर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया। पुलिस टीम इस हमले में बाल-बाल बच गई। इसके बाद उन्होंने गाड़ी का पीछा किया और छपरौला मोड़ पर पहुंचे तो गौ तस्कर गाड़ी को छोड़कर हवाई फायरिंग करते हुए वहां से फरार हो गए। पुलिस ने गाड़ी में भरे हुए 10 गोवंशजो को आजाद करवाया और उन्हें गोवंश सेवा धाम चैरिटेबल ट्रस्ट में छोड़कर वारदात में प्रयोग टाटा 407 को पुलिस कब्जे में ले लिया। क्राइम ब्रांच ने इस मामले में आगे की कार्रवाई करते हुए मामले में शामिल 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया परंतु आरोपी साबिर पुलिस गिरफ्त से बचने के लिए जगह बदल बदल कर रहा था जिसे क्राइम ब्रांच की टीम ने गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर उसे उसके गांव से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपी के खिलाफ इस मुकदमे के अलावा हत्या का प्रयास, गोकशी, अवैध शराब, अवैध हथियार, लड़ाई झगड़ा, मारपीट, चोरी इत्यादि के 8 मुकदमें राज्य के विभिन्न जिलों में दर्ज हैं। पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपी को अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है।