क्राइम ब्रांच कैट व चाइल्ड हेल्पलाइन टीम ने सराहनीय कार्य करते हुए रास्ता भटकी 15 वर्षीय किशोरी को उसके परिजनों से मिलवाया

0
73

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : पुलिस आयुक्त विकास कुमार अरोड़ा की दिशा निर्देश के तहत कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच कैट तथा चाइल्ड हेल्पलाइन की टीम ने घर से रास्ता भटकी एक 15 वर्षीय नाबालिक लड़की को उसके परिजनों तक पहुंचाने का सराहनीय कार्य किया है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि रात 11 बजे चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर 1098 पर सूचना प्राप्त हुईं कि नहर पार पदम नगर में एक 15 वर्षीय बच्ची जिसके हाथ में बैग और कपड़े है और जो शायद अपने घर का रास्ता भूल गई है और लावारिस घूम रही है। उपरोक सूचना पर चाइल्ड हेल्प लाइन से रविंद्र और क्राइम ब्रांच कैट टीम ने महिला पुलिसकर्मी के साथ पहुंचकर लड़की से बात की। लड़की काफी सहमी हुई थी और कुछ भी बताने में असमर्थ थी। महिला सिपाही ने लड़की को काफी देर तक समझाया और उससे उसके परिजनों के बारे में पूछताछ करने की कोशिश की तो उसने बताया कि उसके पापा जेल में है। उन्होंने 5 साल पहले मेरी मां की हत्या कर दी थी जिसमें उन्हें 20 साल की सजा हुई है। इसलिए मैं, मेरी एक बहन और भाई नाना नानी के पास रहते हैं। नाबालिक नहीं रोते हुए बताया कि उसे उसकी मामी ने काम न करने की बात को लेकर डांटा था इसलिए वह घर से निकल आई और रात में अंधेरा अधिक होने के कारण रास्ता भूल गई। लड़की काफी डरी हुई थी और अपने परिजनों का पता बताने में असमर्थ थी इसलिए पुलिस ने लड़की की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उसे बीके अस्पताल में स्थित वन स्टॉप सेंटर ले गए। अगले दिन सुबह टीम ने लड़की को बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया और उसके नाना नानी की तलाश करके बाल कल्याण समिति के आदेशानुसार उनके हवाले कर दिया और उन्हें हिदायत दी कि बच्चों के साथ नरमी से पेश आएं तथा उन्हें किसी भी प्रकार से डांट न लगाएं तथा किसी भी विषय के बारे में प्यार से समझाएं। लड़की के नाना नानी ने पुलिस टीम तथा चाइल्ड हेल्पलाइन टीम द्वारा किए गए सराहनीय कार्य के लिए उनका तहे दिल से धन्यवाद किया।