भारतीय अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में माननीय राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने हरियाणा पैविलियन के स्टॉलों का किया दौरा

0
66

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 24 नवंबर। राजधानी दिल्ली स्थित प्रगति मैदान में लगे भारतीय  व्यापार मेले-2022  के पाँचवे दिन हरियाणा के माननीय राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने हरियाणा पैविलियन में लगे विभिन्न स्टॉलों का दौरा किया।

इस दौरे के दौरान वह सतयुग दर्शन ट्रस्ट (रजि.) के उपक्रम व हरियाणा के प्रमुख पर्यटक स्थल ध्यानकक्ष के स्टाल पर भी गए जहाँ पर ट्रस्ट के सदस्यों ने शॉल व सम्मान चिन्ह देकर उनका अभिवादन किया तथा ध्यानकक्ष के बारे में बताते हुए कहा कि एकता का प्रतीक यह ध्यान-कक्ष, अपने आप में “समभाव-समदृष्टि का स्कूल” है जिसे “सतयुग की पहचान व मानवता का स्वाभिमान माना जाता है। युग परिवर्तन के सत्य को दृष्टिगत रखते हुए, यहाँ से प्रत्येक मानव को कलियुगी भाव-स्वभाव छोड़ समभाव-समदृष्टि की युक्ति अनुसार, सतयुगी नैतिक आचार संहिता अपनाने के लिए प्रेरित किया जाता है तथा यहाँ से हर मानव को धार्मिक भिन्न-भेद से उबर, संतोष, धैर्य अपना कर, सत्य की राह पर निष्कामता से चलते हुए, निज मानव धर्म पर खड़े हो परोपकारी बनने के प्रति उत्साहित किया जाता है। इस तरह इस ध्यान कक्ष से सबको समभाव नज़रों में कर समदर्शिता अनुरूप सबको एक नज़र से देखते हुए, एक रस व्यवहार करने की प्रेरणा दी जाती है ताकि द्वि-द्वैत युक्त भिन्नता का भाव समाप्त हो और आज का विषय ग्रस्त, निर्बल मानव, विचार, सत्-ज़बान, एक दृष्टि व एक अवस्था में आ, अपनी हस्ती की यथार्थता यानि ज्ञान, गुण व शक्ति को जान जाएं और सजनता का प्रतीक बन, इस धरती पर पुन: सतयुग जैसा सर्वोत्तम समयकाल ले आए। इसके अतिरिक्त यहाँ पर शब्द अर्थात् मूलमंत्र आद् अक्षर, ॐ अमर आत्मा को ही गुरु माना जाता है व उसी के साथ, ख़्याल व ध्यान का सम्पर्क स्थापित कर, सीधा कुदरत से ही, आत्मिक ज्ञान प्राप्त करने की व नित्य में श्रद्धा बढ़ाने की प्रेरणा दी जाती है। इस अवसर पर ट्रस्ट के युवा बच्चों  ने  ‘हम एक है-हम एक है’ नृत्य प्रस्तुति द्वारा सबको एकता में आने का सन्देश दिया। अंत में माननीय गवर्नर ने ट्रस्ट की मानवोत्थान हेतु किये जाने वाले कार्यों की सराहना स्वरुप बच्चों को आशीर्वाद दिया।