जे.सी. बोस विश्वविद्यालय ने कोविड केयर सेंटर के लिए आरडब्ल्यूए को दिया सहयोग

0
237

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 12 मई। कोरोना महामारी से लड़ने के लिए बुनियादी चिकित्सा सुविधाओं को बढ़ावा देने और विकसित करने के उद्देश्य से जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने ग्रेटर फरीदाबाद की एक रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन को ‘कोविड केयर आइसोलेशन सेंटर’ की स्थापना एवं संचालन में सहयोग देने के लिए सहभागिता की है। यह सेंटर आरडब्ल्यूए पार्क फ्लोर्स-2, सेक्टर-76, फरीदाबाद की एक पहल है।
इस संबंध में जानकारी देते हुए विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. एस. के. गर्ग ने कहा कि कुलपति प्रो.दिनेश कुमार के मार्गदर्शन में विश्वविद्यालय समाज में ऐसी हर पहल का समर्थन करने के लिए हरसंभव प्रयास कर रहा है जो कोविड़ महामारी की रोकथाम में प्रभावी साबित हो सकती हैं। कोविड़ केयर आइसोलेशन सेंटर’ आपातकालीन उपयोग के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर, चैबीस घंटे की एम्बुलेंस सुविधा, रोगी की देखभाल के लिए नर्स, बुनियादी दवाइयां, टेली-परामर्श के लिए चिकित्सक और वॉशरूम जैसी बुनियादी चिकित्सा सहायता से सुसज्जित है। उन्होंने कहा कि इस पहल को विश्वविद्यालय के अधिकारियों प्रो. लखविंदर सिंह, डीन स्टूडेंट वेलफेयर और श्री मनीष गुप्ता, उप-कुलसचिव द्वारा सहयोग दिया जा रहा है तथा सहभागिता को आधिकारिक तौर पर अमल में लाने में निदेशक, इंडस्ट्री रिलेशंस डॉ. रश्मि पोपली ने भूमिका निभाई।
विश्वविद्यालय के अधिकारियों द्वारा की गई पहल की सराहना करते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि यह देखकर खुशी होती है कि इस महामारी के दौरान विश्वविद्यालय से जुड़ा प्रत्येक व्यक्ति किसी ने किसी तरह से योगदान दे रहा हैं। उन्होंने सामाजिक सरोकार के लिए इस तरह की हर पहल का सहयोग देने का आश्वासन दिया।
आरडब्ल्यूए के अध्यक्ष श्री नरेंद्र चौहान ने कहा कि कोविड़ केयर आइसोलेशन सेंटर की सुविधा सेक्टर-76 बीवीटीपी नेक्स्ट डोर मॉल में विकसित की गई है जोकि पार्क फ्लोर्स-2 सोसाइटी के निकट है। शुरूआत में आरडब्ल्यूए ने बुनियादी चिकित्सा सुविधाओं के साथ 10 बेड का सेंटर स्थापित किया है। इस सेंटर में सुविधा ‘पहले आओ-पहले पाओ’ के आधार पर प्रदान की जाएगी और प्राथमिकता सोसायटी निवासियों और विश्वविद्यालय के कर्मचारियों को दी जाएगी। हालांकि, उन्होंने स्पष्ट किया है कि इस सेंटर के पास कोई आईसीयू या वेंटीलेटर सुविधा नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसे कोविड़ पॉजिटिव मरीज जिनका एसपीओ2 लेवल 95 से कम लेकिन 90 से अधिक है और मेडिकल सपोर्ट चाहते है, सेंटर की सुविधा ले सकते है।