परमात्मा का साक्षात स्वरूप है माता पिता का रूप : पूर्व मंत्री विपुल गोयल

0
70

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : आज गांव बुआपुर में एम एस नागर एडवोकेट द्वारा अपने पिता महाशय चंदी राम सरपंच ओर माता प्रहलादी देवी की याद में मूर्ति स्थापना की गयी । इस अवसर पर पूर्व उद्योग मंत्री विपुल गोयल भी गाँव बुआपुर पहुँचे ओर कार्यक्रम मे शिरकत की।

एम एस नागर एडवोकेट द्वारा बताया गया की उनका परिवार पूर्णतया शिक्षित परिवारो की श्रेणी मे आता है जो उनके पिता की देन है क्योंकि वो शिक्षा प्रेमी थे ओर हमेशा शिक्षित होने की प्रेरणा देते थे । नागर ने बताया की आज लगभग् सभी 6 भाइयो ओर उनके पुत्रो समेत तमाम परिवारिक सदस्य सरकारी सेवाओं मे अपनी सेवा दे रहे है। उनके पिता चंदी राम उस समय बहुत बड़े आर्य समाजी के तोर पर जाने जाते थे।

इस अवसर पर पूर्व उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने कार्यक्रम मे सम्बोधित करते हुए कहा की माता पिता द्वारा दिये संस्कार ही होते है जो बच्चो का भविष्य तय् करते है ओर चंदी राम महाशय जो आज स्वयं तो इस दुनिया मे नही है लेकिन उनके दिये संस्कार ओर लगाए गये पौधे आज भी उनके दिये संस्कारो की महक दे रहे है। चंदीराम के सभी 6 पुत्र अलग अलग क्षेत्रो मे समाज को अपनी सेवाएं दे रहे है। पूर्व मंत्री ने कहा की परमात्मा का साक्षात् स्वरूप माता पिता का रूप होता है। इसलिये हमेशा इनका सत्कार करना चाहिए ओर आदर करना चाहिए।

पूर्व मंत्री ने एम एस नागर् एडवोकेट को इस पुण्य कार्य के करने पर बधाई दी ओर सभी को प्रेरित करते हुए कहा की ऐसे पुत्रो से सभी को सीख लेनी चाहिए। इस अवसर पर तिगांव से विधायक राजेश नागर, एम एस नागर् एडवोकेट, संदीप, कर्मबीर, किशन नागर, दयानन्द, एम एस नागर का पुरा परिवार भाई भतीजो सहित, गांव से सरपंच व अन्य काफी गणमान्य् लोग उपस्थित थे।