‘मानवता के लिए योग’ थीम को लेकर हुआ योगाभ्यास कार्यक्रम

0
43

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 21 जून। 8वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आज डी ए वी शताब्दी महाविद्यालय के शारीरिक शिक्षा एवं खेल विभाग द्वारा इस बार के थीम मानवता के लिए योग को आधार बनाकर महाविद्यालय प्रांगण में तथा ऑनलाइन जूम प्लेटफार्म के माध्यम से योगाभ्यास का कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस अवसर पर महाविद्यालय के सभी क्लबों यूथ रेड क्रॉस, एन सी सी, एन एस एस, यूथ क्लब, रेड रिबन, वीमेन सेल आर्य समाज तथा खेल एवं योग के शिक्षकों के साथ साथ विद्यार्थियों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया। सभी ने योगाचार्य श्री उमेश कुमार के सानिध्य में योगाभ्यास किया। महाविद्यालय की कार्यकारी प्राचार्या डॉ सविता भगत ने स्वयं महाविद्यालय प्राध्यापकों डॉ नरेंद्र दुग्गल, डॉ रुचि अरोड़ा, कैप्टन सुनीता डुडेजा, डॉ अर्चना सिंघल डॉ अमित शर्मा एवं विद्यार्थियों के साथ मिलकर योगासन किये। योगाभ्यास के बाद प्राचार्या डॉ सविता भगत ने सभी प्रतिभागियों को सम्बोधित करते हुए योग के महत्व से सभी को अवगत कराया और बताया कि योग भारत की विश्व को देन है। आज पूरा विश्व योगमय हो गया है। योग जीवन का वह दर्शन है जो मनुष्य को उसकी आत्मा से जोड़ता है। नियमित रूप से यदि योग किया जाए तो व्यक्ति गंभीर से गंभीर बीमारियों से भी मुक्ति पा सकता है। शारीरिक एवं खेल शिक्षा विभागाध्यक्ष डॉ नरेंद्र दुग्गल ने अपने वक्तव्य में कहा कि योग ही स्वास्थ्य की कुंजी है। प्रतिदिन किया गया योग ही निरोगता का एकमात्र बिना खर्चीला उपाय है।