पिछले 5 साल के रेप, पोक्सो और छेड़छाड़ के आरोपियों की कुंडली तैयार करके रखे जाएगी उनपर निगरानी : ओ पी सिंह

0
203
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह ने सेक्टर 21c में स्थित अपने कार्यालय में तीनों जॉन के डीसीपी, एसीपी, थाना व चौकी प्रभारियों के साथ आयोजित एक बैठक में महिलाओं विरुद्ध अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए अपराधिक प्रवृत्ति के लोगों पर निगरानी रखने के  निर्देश दिए।
श्री ओपी सिंह ने पिछले 5 वर्षों में घटित हुए बलात्कार, पोक्सो एक्ट और छेड़छाड़ के आरोपियों की कुंडली तैयार करके उन पर निगरानी रखकर कानून के तहत सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि इस प्रकार के अपराधियों की सूची तैयार करके  थाने के बीट पुलिसकर्मियों तक पहुंचाई जाएगी ताकि इलाके के बीच पुलिस कर्मियों के पास उनकी जानकारी रहे और उन पर नजर रखकर अपराधों में कमी लाई जा सके।
इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जिस थानाक्षेत्र में महिला विरुद्ध अपराध घटित हुआ हो वहां महिला थाना प्रभारी के साथ साथ संबंधित थाना एसएचओ भी मौके पर जाएंगे और कानूनी कार्रवाई में अपना सहयोग करेंगे।
इसके साथ ही जिले में चोरी की वारदातों पर लगाम लगाने के लिए चोरों पर शिकंजा कसकर उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
अपराधिक प्रवृत्ति के लोग बिना नंबर प्लेट वाले वाहनों का उपयोग करके वारदातों को अंजाम देते हैं इसलिए उनकी विशेष निगरानी रखकर धरपकड़ की जाए।
जोन के सहायक पुलिस आयुक्त की निगरानी में 31 मार्च तक जिले के PO, बेल जंपर को पकड़ने का टारगेट सेट किया गया है।
अवैध हथियार, एनडीपीएस, शराब तस्करी पर रोक लगाने के लिए मार्च महीने में हर थाने द्वारा 5 आरोपियों को गिरफ्तार करके हवालात में देने के आदेश दिए गए।
थाना व चौकी प्रभारियों को निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि इलाके के लोगों की सुरक्षा की जिम्मेदारी के साथ वर्दी पहनी हैं यह वर्दी आपकी पहचान और शान को बनाए रखें। थाना प्रबंधक का पद जिम्मेवारी का पद है, पीड़ित को पुलिस से उम्मीद होती है इसलिए थाना प्रबन्धक के पद की गरिमा को बनाए रखें। पीड़ित के पैरवीकार बन उनकी शिकायत पर तत्परता से से कार्य करते हुए उसकी समस्या का समाधान निष्पक्ष रुप से  करें।
सर्वश्रेष्ठ कार्य करने के लिए थाना सेक्टर 58 व मुजेसर प्रभारी को प्रथम श्रेणी प्रशंसा पत्र देकर आगामी टारगेट पूरा करने का प्रोत्साहन देते हुए बैठक का समापन किया गया।