हाईवे निर्माण में सडक़ सुरक्षा नियमों से कोई समझौता नहीं : प्रदीप दहिया

0
204

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 03 फरवरी। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के प्रशासक प्रदीप दहिया ने कहा कि हाईवे निर्माण के दौरान सडक़ सुरक्षा के सभी मानकों का पूर्णत: पालन किया जाए। एक बार हाईवे निर्माण होने के बाद उसके डिजाईन में अगर कोई गड़बड़ी रह जाती है तो वर्षों तक हादसे होते रहते हैं। ऐसे में शुरूआत में ही इन बातों का ध्यान रखें कि हाईवे पूरी तरह से सुरक्षित हो और सभी नियमों को पूरा करता हो। वह बुधवार को अपने कार्यालय में राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों के साथ दिल्ली-बड़ौदरा एक्सप्रैस वे निर्माण डिजाईन की समीक्षा कर रहे थे।
मीटिंग के दौरान एनएचआई के अधिकारियों ने उनके समक्ष फरीदाबाद, पलवल व हरियाणा के अन्य क्षेत्रों से गुजरने वाले हाईवे को लेकर एक प्रेजेंटेशन भी दी। इसमें उन्होंने बताया कि करीब 19 किलोमीटर रास्ते को पूरी तरह से क्लियर करवा लिया गया है। उन्होंने हाईवे निर्माण के दौरान बनने वाले ओवरब्रिज, रेलवे ओवरब्रिज, नहरी ब्रिज व अन्य सभी अंडरब्रिज व सर्विस लेन को लेकर विस्तार से उन्हें जानकारी दी। एनएचआई के अधिकारियों ने बताया कि हाईवे पर अधिकतम स्पीड 100 किलोमीटर प्रति घंटा से लेकर 120 किलोमीटर प्रति घंटा तक तय की जाएगी। इस दौरान एचएसवीपी प्रशासक ने उन्हें निर्देश दिए कि दिल्ली बड़ौदरा एक्सप्रैस शहर के यातायात के लिए भी एक राहत भरा हाईवे होगा। उन्होंने कहा कि एचएसवीपी की जितनी भी जमीन इस हाईवे के आस-पास है वह पूरी तरह से अतिक्रमण से मुक्त करवाई जा रही है और जिन जगहों पर अतिक्रमण बचा हुआ है उसे भी जल्द ही हटवा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमें डीपीआर के अनुसार कार्य करना है और एचएसवीपी की पूरी जमीन हाईवे के निर्माण के लिए प्रयोग करनी है। मीटिंग में उन्होंने हाईवे निर्माण के दौरान काटे गए पेड़ों की पूरी जानकारी भी ली। इसके साथ ही यह निर्देश दिए कि हाईवे निर्माण के लिए चल रहे विभिन्न कार्यों में पूरी तरह से सतर्कता बरती जाए।