घर से लापता हुए डेढ़ वर्षीय मासूम को पुलिस ने परिजनों तक पहुंचाया

0
146
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : थाना मुजेसर प्रभारी इंस्पेक्टर संदीप व उनकी टीम ने अपहृत किए गए डेढ़ वर्षीय मासूम को मेवात से सकुशल बरामद करने में अहम भूमिका निभाई है।
दिनांक 8 फरवरी 2021 को बच्चे के पिता शाहरुख ने थाना मुजेसर में आकर बताया कि वह आजाद नगर का रहने वाला है और उसका डेढ़ वर्षीय लड़का आज सुबह से ही घर से गायब है।
उसने बताया कि उसके और उसके परिजनों ने आसपास क्षेत्र में अपने लड़के को ढूंढने की हर संभव कोशिश की परंतु उन्हें उनके लड़के की कोई भी खबर नहीं लग पाई।
सूचना पर कार्यवाही करते हुए थाना मुजेसर में मुकदमा दर्ज किया गया और लड़के की तलाश शुरू कर दी गई।
काफी देर तलाश करने के बाद भी जब बच्चे की कोई सूचना नहीं मिली तो उसकी तलाश के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की सहायता ली गई।
बच्चे के परिजनों से बच्चे की फोटो प्राप्त करके विभिन्न व्हाट्सएप ग्रुप में भेजा गया ताकि यदि किसी को भी उसकी जानकारी मिले तो वह थाने में इसकी सूचना दे सके।
व्हाट्सएप ग्रुप में भेजी गई फोटो को पुन्हाना के पेमा खेड़ा गांव के एक्स सरपंच श्री भुरु तक पहुंची तो उन्होंने बच्चे को पहचान लिया।
भुरु ने थाना मुजेसर में संपर्क किया और बताया कि इस बच्चे को उसने मेवात के बड़का गांव के बिसरू मोड़ पर लावारिस हालत में देखा था।
उसने बताया कि बच्चे का कोई वारिस ने मिलने की वजह से एक महिला उसे अपने साथ अपने घर ले गई ताकि बच्चे के साथ कोई भी अप्रिय घटना घटित ना हो और उसे सुरक्षित रखा जा सके।
सूचना मिलते ही थाना प्रभारी इंस्पेक्टर संदीप, सहायक उप निरीक्षक महावीर व टीम बच्चे के पिता को अपने साथ लेकर बड़का गांव के लिए रवाना हो गए।
पुलिस टीम जब बताए गए स्थान पर पहुंची तो बच्चे के पिता शाहरुख द्वारा बच्चे की पहचान की गई और उसे सकुशल बरामद कर लिया गया।
पुलिस टीम बच्चे को लेकर फरीदाबाद आई और बच्चे को सकुशल उसके परिजनों के हवाले कर दिया।
बच्चे को वापस पाकर उसके माता-पिता बहुत खुश हुए और पुलिस टीम द्वारा किए गए सराहनीय कार्य के लिए उनकी प्रशंसा की।
बच्चा किस प्रकार में वहां पहुंचा, पुलिस इसकी जांच कर रही है और यदि इसमें किसी भी प्रकार की साजिश का खुलासा होता है तो आरोपियों के खिलाफ कानून के तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी।