फेल करने की धमकी देकर प्राइवेट स्कूल वसूल रहे हैं गैरकानूनी फीस

0
142
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : हरियाणा अभिभावक एकता मंच कहा है कि  प्राइवेट स्कूल संचालक अपने छात्रों को अगली कक्षा में प्रमोट करने के नाम पर उनके अभिभावकों से गैर कानूनी फीस मांग रहे हैं जो अभिभावक उनकी इस गैरकानूनी मांग को नहीं मान रहे हैं उनके बच्चों को फेल करने और उन्हें आगे की कक्षा में प्रमोट न करने की धमकी दी जा रही है।
मंच के प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट ओपी शर्मा व प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा ने कहा है कि कई अभिभावकों ने मंच को बताया है कि उन्होंने अप्रैल 2020 से लेकर मार्च 2021 तक की बिना बढ़ाई गई ट्यूशन फीस जमा करा दी है लेकिन अब स्कूल प्रबंधक बढ़ाई गई ट्यूशन फीस की वकाया राशि, एनुअल, डेवलपमेंट, आईटी चार्ज आदि गैर कानूनी फंडों  में फीस मांग रहा है। इसका विरोध करने पर रिपोर्ट कार्ड नहीं दिया जा रहा है और टीसी मांगने पर टीसी भी नहीं दी जा रही है। मंच ने ऐसे अभिभावकों से शिकायत के रूप में शपथ पत्र देने को कहा है जिससे दोषी स्कूलों के खिलाफ लीगल कार्रवाई की जा सके। मंच ने स्कूल प्रबंधकों से भी कहा है कि वे अभिभावकों को परेशान ना करें जिन अभिभावकों ने शिक्षा सत्र 2020- 21 की बिना बढ़ाई गई ट्यूशन फीस जमा करा दी है उनके बच्चों को रिपोर्ट कार्ड देकर अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया जाए। एनुअल चार्ज व अन्य किसी भी फंड में एक भी पैसा अभिभावकों से ना वसूला जाए। जिन स्कूल प्रबंधकों ने ऑनलाइन पढ़ाई नहीं कराई है वे अपने अभिभावकों से हाईकोर्ट व शिक्षा विभाग के आदेशों के तहत ट्यूशन फीस भी ना वसूलें।जो स्कूल प्रबंधक इन आदेशों की अवहेलना करेगा मंच ऐसे स्कूलों के खिलाफ लीगल कार्रवाई करेगा और उनके खिलाफ उच्च न्यायालय के आदेश की अवमानना का केस दायर करेगा। मंच ने अभिभावकों से कहा है कि वे ऑनलाइन पढ़ाई कराने वाले स्कूलों को सिर्फ ट्यूशन फीस ही दें। ऑफलाइन पढ़ाई कराने वाले स्कूलों को ट्यूशन फीस भी ना दें।ऑनलाइन पढ़ाई कराने वाले स्कूलों की अप्रैल 2020 से मार्च 2021 तक की जायज ट्यूशन फीस जमा कराने के बाद अगर रिपोर्ट कार्ड मिलने में, बच्चे को प्रमोट करने में या टीसी अप्लाई करने के बाद टीसी मिलने में अगर स्कूल प्रबंधक परेशान कर रहे हैं तो मंच से संपर्क करें।