बिजली के भारी-भरकम बिल भेजकर आम उपभोक्ता की कमर तोड़ दी : तेजवंत सिंह

0
160

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 26 मार्च। आम एवं गरीब उपभोक्ताओं के बिजली के बिल के साथ भारी-भरकम टैक्स जोडक़र भेजने पर आम आदमी पार्टी ने आज एनआईटी-1 स्थित बिजली विभाग के एसडीओ कार्यालय का घेराव कर अपना रोष जताते हुए कहा कि इन टैक्सों को सिक्योरिटी राशि के नाम पर दिया जा रहा है।
आम आदमी पार्टी के बडखल अध्यक्ष तेजवंत सिंह ने बताया कि कोरोना महामारी के के चलते एक तो वैसे ही आम आदमी के रोजगार छिन गए हैं जिससे उनके सामने दो जून की रोटी के लाले पड़े हुए हैं वहीं बिजली विभाग ने भी मनमाने ढंग से बिजली के भारी-भरकम बिल भेजकर आम उपभोक्ता की कमर तोड़ दी है। उन्होंने कहा कि पड़ोसी दिल्ली राज्य में केजरीवाल सरकार जहां सभी बिजली उपभोक्ताओं को दो सौ यूनिट तक बिजली निशुल्क उपलब्ध करवा रही हैं वहीं हरियाणा में बिजली विभाग बहुत ही ऊंची दर से बिजली के दाम वसूल रहा है, जिसे भरना गरीब आदमी के बस की बात नहीं है। अब बिजली निगम ने एक नया नियम लागू कर उपभोक्ताओं के बीच हडकंप पैदा कर दिया है। लोगों के बिजली बिल के अलावा उसमें हजारों रुपए की राशि इसलिए जोडक़र भेजी जा रही है, ताकि उसकी वसूली की जा सके। इस भारी भरकम राशि को बिजली निगम के अधिकारी सिक्योर्रिटी राशि बता रहे हैं। जबकि मीटर लगाते वक्त यह राशि पहले ही उपभोक्ता जमा करवा चुका है। उन्होंने मांग की कि बिजली के बिलों को तुरंत कम करके उपभोक्ताओं को राहत पहुँचाई जाए अन्यथा आम आदमी पार्टी सडक़ पर उतरकर विभाग व सरकार के खिलाफ जोरदार आन्दोलन चलाने को विवश होगी। वहीं बिजली अधिकारियों ने बताया कि यह राशि पीछे से ही जोडक़र भेजी जा रही है। इसमें वह कुछ नहीं कर सकते। अधिकारियों ने यह भी बताया कि जब उपभोक्ता अपना मीटर कटवाएंगे, तो उनकी यह राशि वापिस कर दी जाएगी। अधिकारियों के इस बयान पर भी लोगों ने नाराजगी जताई।
एसडीओ के घेराव में मंजू चौधरी, परमजीत कौर, निरंकार जी, एडवोकेट डीएस चावला, जोगिंदर चंदीला, हर्ष गुलाटी, हरदीप अत्री, सुरेश अग्रवाल, बिन्नू, राहुल, सन्नी, जतिन आहूजा, लाडी एवं मास्टरजी व महेंद्र रतड़ा आदि शामिल रहे।