सूरजकुंड मेला परिसर में आयोजित होने वाले प्रथम दिवाली उत्सव का आगाज आज से

0
122

Faridabad Hindustanabtak.com/Dinesh Bhardwaj : 02 नवम्बर। सूरजकुंड मेला परिसर में प्रथम दीवाली उत्सव का रंगारंग अनुठा आगाज शुक्रवार को शाम 5 बजे से होगा। इस संबंध में सूरजकुंड मेला परिसर में सभी तैयारियाँ पूरी कर ली गयी हैं। प्रथम दीवाली उत्सव का शुभारंभ हरियाणा के विरासत एवं पर्यटन मंत्री कंवर पाल गुर्जर करेंगे। दीवाली उत्सव के शुभारंभ अवसर पर हरियाणा पर्यटन निगम के अध्यक्ष अरविन्द यादव, पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव एमडी सिन्हा, निदेशक पर्यटन प्रभजोत सिंह,
हरियाणा पर्यटन के एमडी नीरज कुमार, उपायुक्त विक्रम सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहेंगे।

हर शाम मुख्य चौपाल पर रंगारंग व सुन्दर सांस्कृतिक कार्यक्रमों आयोजन किया जाएगा।

प्रथम दीवाली उत्सव के दौरान 3 से 10 नवंबर 2023 सायंकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रम इस प्रकार आयोजित किए जा रहे हैं। 3 नवंबर 2023, शुक्रवार को उद्घाटन समारोह एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम, 4 नवंबर 2023, शनिवार हिप हॉप प्रदर्शन जिसमें मशहूर कलाकार एमसी स्क्वायर अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे। 5 नवंबर 2023, रविवार को
पंजाबी कलाकार अखिल द्वारा पंजाबी हिट्स का एक सनसनीखेज प्रदर्शन आयोजित किया जाएगा। वहीं 6 नवंबर 2023, सोमवार को हरियाणवी सिंगर सुमित गोस्वामी द्वारा एक हरियाणवी पॉप प्रदर्शन प्रस्तुत किया जाएगा।

हरियाणा पर्यटन कला एवं संस्कृति विभाग, हरियाणा के सहयोग से 7 नवंबर 2023, मंगलवार सुरमयी शाम – बॉलीवुड धुनों की एक भावपूर्ण यात्रा होगी। इसके अलावा 8 नवंबर 2023, बुधवार को इंडियन आइडल सेंसेशन सलमान अली की धुनों पर दर्शक थिरकेंगे, 9 नवंबर 2023, गुरुवार को इंडियन ओशियन बैंड के साथ फ्यूज़न रॉक अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे तथा 10 नवंबर 2023, शुक्रवार को समापन समारोह के अवसर पर दीपोत्सव का आयोजन किया जाएगा।

दिवाली उत्सव में 250 से ज्यादा स्टालों पर लगेगी रौनक

उस्तव में आने वाले पर्यटक 250 से ज्यादा स्टालों पर से दिवाली के त्यौहार से सम्बंधित सामग्री की खरीदारी का आनंद ले सकेंगे। देश के अन्य राज्यों से आए शिल्पकारों द्वारा यह स्टालें लगाई जाएंगी।

पर्यटकों के लिए 30 रुपये होगी एंट्री टिकट, 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए एंट्री फ्री

दिवाली उत्सव में आने वाले पर्यटकों के लिए 30 रुपये की एंट्री टिकट रखी गई है। जबकि साथ ही 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए एंट्री फ्री रखी गई है। स्कूली विद्यार्थी भी अपना पहचान पत्र दिखाकर एंट्री कर सकते हैं। पत्रकारों के लिए भी पहचान पत्र के आधार पर इंट्री रखी गई है। वाहन पार्किंग की पर्याप्त व्यवस्था भी की गयी है जिससे कि आने वाले लोगों को परेशानी का सामना न करना पड़े।

दीपोत्सव दिवाली उत्सव का खास आकर्षण रहने वाला है। प्राचीन सूरजकुंड को दीपों से सजाकर दीपोत्सव का आयोजन कर सरयू नदी के प्राचीन घाट की छवि का प्रदर्शन किया जाएगा। मेले में खान-पान के लिए विशेष तौर पर फूड कोर्ट सजाई जा रही है। यहां दीवाली उत्सव में आने वाले पर्यटक अच्छे खान-पान का आनंद ले सकते हैं। उत्सव का उद्देश्य पर्यटकों के त्यौहारी सीजन को खास बनाना है और इसके लिए हरियाणा पर्यटन विकास निगम बेहतरीन तैयारियों को पूरा कर लिया गया है।

दिवाली उत्सव में पर्यटकों की सुरक्षा का ख़ास ध्यान रखा जाएगा। इसके लिए पुलिस विभाग द्वारा मेला परिसर में अस्थाई पुलिस लाइन की स्थापना की गयी है। परिसर में 150 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरा इंस्टाल किए गये हैं। स्वास्थ्य की दृष्टि से एक डिस्पेंसरी भी स्थापित की गयी है।