सूरजकुंड इंटरनेशनल स्कूल में नन्हीं हुनर को दिया मंच

0
416

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : दयाल बाग स्थित सूरजकुंड इंटरनेशनल स्कूल में कोरोनावायरस की गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए ‘नन्ही उड़ान’ म्यूजिक एंड डांस का कार्यक्रम आयोजित दीप प्रज्वलित कर किया गया।
इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य 2.5 से 8 वर्ष तक के बच्चों की प्रतिभा को मंच प्रदान करना था। सभी बच्चों ने अपनी रूचि के अनुसार गायन और नृत्य प्रतियोगिता में भाग लिया और अपने हुनर का जलवा बिखेरा। इस कार्यक्रम में सोलो डांस और गायन प्रतियोगिता के प्रतियोगियों में पहला पुरस्कार – आद्या  अग्रवाल (गायन) ज्ञानवी (नृत्य) दितीय पुरस्कार – लावन्या (गायन), निधि (नृत्य) और तृतीय पुरस्कार-हंसिका (गायन), समायरा (नृत्य) को दिया गया। अन्य सभी प्रतिभाशाली बच्चों को प्रोत्साहन पुरस्कार दिया गया। कार्यक्रम के बीच बीच में भी मनोरंजन का पूरा ख्याल रखते हुए अभिभावकों के लिए भी विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया गया, जिसमें विशेष था -गुब्बारे फोड़ो, मोमबत्ती व टंग-ट्विस्टर आदि थे। कार्यक्रम में उपस्थित सभी अतिथि गण कार्यक्रम को देखकर रोमांचित और हर्षित दिखे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सूरजकुंड इंटरनेशनल स्कूल के मुख्य निदेशक एवं वरिष्ठ अधिवक्ता सत्येंद्र भडाना ने नन्ही प्रतिभाओं की सराहना करते हुए अत्यंत हर्षित हुए और कहा कि नन्हीं प्रतिभाएं इसी प्रकार उड़ान भरते हुए सफलता हासिल करती रहे, इसकी कामना की। उन्होनें सभी अभिभावकों का अभिनंदन करते हुए कहा कि आप जैसे जागरुक अभिभावक बच्चों में संस्कारों की नींव और उनकी रूचि के अनुसार उन्हें आगे बढऩे की प्रेरणा देते हैं। यह बच्चे इसी प्रकार हंसते खेलते हुए आगे बढ़ते रहें।
इसके पश्चात स्कूल की प्रधानाचार्य श्रीमती शुभ्रता सिंह ने अतिथि गण और उपस्थित सभी अभिभावकों का आभार ज्ञापित किया और नन्हे नन्हे बच्चों की प्रतिभा और उनकी कलाकारी की प्रशंसा की और कहा कि यह नन्हे नन्हे बच्चे अपनी प्रतिभा से सबको लोहा मनवाने का आत्मविश्वास रखते हैं। यदि इन्हें उचित मार्गदर्शन दिया जाए तो सभी बाधाओं को पार करके एक नया मुकाम हासिल कर सकते  है।
इसके पश्चात उप-प्रधानाचार्य श्रीमती नंदा शर्मा ने सभी का धन्यवाद करते हुए बच्चों की सराहना की और उनके बारे में 4 पंक्तियां कहीं जो इस प्रकार हैं-अगर मेहनत आदत बन जाए तो कामयाबी मुकद्दर बन जाती है।
प्रथम, दितीय तृतीय पुरस्कार के साथ ही बेस्ट कॉस्टूयम अवार्ड, बेस्ट एंजल अवार्ड, बेस्ट प्रेजेंटेशन आवार्ड आदि प्रोत्साहित पुरस्कार वितरित किये गए। अभिभावक अपने बच्चों को मंच पर परफॉर्म करते देख अति प्रसन्न दिखाई दिए एवं स्कूल को ऐसे ही कार्यक्रम आयोजित करने के लिए प्रोत्साहित किया।