डी.ए.वी शताब्दी महाविद्यालय में ‘‘तीन दिवसीय मेडिटेशन कोर्स’’ का आयोजन

0
153

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : डी.ए.वी शताब्दी महाविद्यालय में 31.03.2021 से 02.04.2021 तक ‘‘तीन दिवसीय मेडिटेशन कोर्स’’ का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में एन.एस.एस के विद्यार्थियों और सभी प्रध्यापकगणों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया।

इस कार्यक्रम में हार्टफुलनेस इंस्टीटयूट जिसके ग्लोबल गाइड गुरू कमलेश डी. पटेल जी है, वहीं के ध्यान योग प्रशिक्षक श्री एस.पी.शर्मा, सिस्टर शशि दास, श्री रमेश भजनी व श्री प्रदीप गुप्ता की टीम ने सभी प्रतिभागियों को सहज मार्ग साधना विधि, डेल्टा मेडिटेशन क्रिया, न्यूरोप्लास्टिीसिटी मेडिटेशन सिखाया व उन्होनें सभी को ध्यान योग साधना से होने वाले फायदों की विस्तृत जानकारी दी।

उन्होनें बताया कि एक दिन में एक व्यक्ति के मन मस्तिष्क में लगभग साठ हजार से अस्सी हजार तक विचार आते हैं। जैसे-जैसे हम ध्यान केन्द्रित करना सीख लेते हंै तो धीरे धीरे इन विचारों की संख्या को कम किया जा सकता है। मेडिटेशन के माध्यम से हम हमारे मन की जटिलताओं और नकारात्मक विचारों से छुटकारा पाकर सकारात्मक विचारों को अपने मन में स्थापित कर सकते हैं। डाॅ. सुरभि, डाॅ. अंकुर अग्रवाल, दिपेश कुमार, निशा गेरा, त्रिलोकी, समीक्षा व अन्य प्रतिभागियो ने मेडिटेशन क्रिया के बाद अपने सुखद अनुभव सांझा किये।

इस मौके पर प्राचार्या महोदया डाॅ. सविता भगत जी ने सभी प्रतिभागियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमें अपने जीवन में मेडिटेशन को अपनाना चाहिए इससे हम अपने मन के नकारात्मक विचारों को नियंत्रित कर सकते हैं। हमें अपना आत्मनिरिक्षण करना चाहिए। स्वयं सकारात्मक होकर ही हम अपने परिवार, कार्यस्थल, समाज और सम्पूर्ण विश्व में सकारात्मकता का संचार कर सकते हैं।

इस कार्यक्र्रम में श्री मुकेश बंसल, डाॅ.सुनीति आहूजा, डाॅ. शिवानी, डाॅ. अंजू गुप्ता, डाॅ.रूचि मल्होत्रा, डाॅ. प्रिया कपूर, श्रीमती अंकिता मोहिन्द्रा, श्रीमती अंजलि मनचंदा, श्रीमती रचना कसाना एवं श्रीमती ज्योति मल्होत्रा सहित महाविद्यालय के अन्य प्र्राध्यापकगण उपस्थित रहे।

कार्यक्रम का आयोजन श्री प्रवीन कुमार (फार्मासिस्ट) के संयोजन में संपन्न हुआ।