पंचग्राम योजना पर अगले वित्त वर्ष में ऐतिहासिक कदम उठाएंगे : दुष्यंत चौटाला

0
120

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 02 मार्च। हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कोरोना आपदा के बावजूद प्रदेश तेज गति से विकास कर रहा है। अगले वित्त वर्ष में सरकार दिल्ली के चारों तरफ विकसित की जाने वाली पंचग्राम योजना को लेकर भी ऐतिहासिक कदम उठाने जा रहे है। इस संबंध में दो रिपोर्ट भी सरकार को प्राप्त हुई हैं। उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला मंगलवार को जिला लोक सम्पर्क एवं परिवाद समिति की बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।
पत्रकारों से सवालों का जवाब देते हुए उप मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले वित्त वर्ष में कोरोना जैसी बड़ी आपदा आई लेकिन प्रदेश ने जीएसटी, राजस्व, आबकारी सहित सभी तरह के टैक्स कलेक्शन में बेहतरीन कार्य किया है। पिछले वर्ष कोरोना की वजह से कुछ प्रोजेक्ट पेडिंग भी रहे हैं जिन्हें इस वित्त वर्ष में पूरा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ग्लोबल सिटी के विकास का कार्य भी जल्द ही शुरू किया जाएगा। प्रदेश में फसल खरीद को लेकर पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए उप मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार पूरी तरह से किसान हितैषी है और किसानों के हित के लिए लगातार कार्य कर रही है। आगामी खरीद सीजन में छह फसलों को एमएसपी पर खरीदा जाएगा। इनमें से सरसों की खरीद जल्द शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं और एक अप्रैल से गेहूं की खरीद भी शुरू कर दी जाएगी। कृषि कानूनों को लेकर उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार कानूनों में किसी भी तरह से बदलाव करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा कि समस्या के समाधान के लिए आंदोलन को दिल्ली तक लेकर आने वाले सभी 40 किसान नेताओं को एक मन बनाकर बात करनी होगी। उन्होंने कहा कि जीएसटी कानून में भी 200 से ज्यादा संशोधन हो चुके हैं और कृषि कानूनों में भी यदि कोई समस्या है तो उसका समाधान हो सकता है। उन्होंने कहा कि हम सभी को राजनीति की बजाए किसानी को मजबूत करने पर बल देना होगा। प्रदेश में खेलों के विकास को लेकर उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार खेलों को बढ़ावा देने के लिए लगातार कार्य कर रही है। प्रदेश में खेलों इंडिया के तहत बुनियादी सुविधाएं विकसित की जा रही है औंर इन्हें और अधिक बढ़ाया जाएगा। इस अवसर पर उनके साथ फरीदाबाद के विधायक नरेंद्र गुप्ता, तिगांव के विधायक राजेश नागर, मेयर सुमन बाला, पुलिस आयुक्त ओ.पी. सिंह, उपायुक्त यशपाल, एचएसवीपी प्रशासक प्रदीप दहिया, अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर मान, जजपा जिलाध्यक्ष (शहरी) अरविंद भारद्वाज, जजपा जिलाध्यक्ष (ग्रामीण) तेजपाल डागर, प्रेम सिंह धनखड़, ठाकुर राजाराम, संदीप कपासिया, अनिल खुटैला, सुनील शास्त्री, अवनीश कौशिक, अमर सिंह दलाल, महेश अधाना, देवेंद्र बैरागी सहित जिला लोक संपर्क एवं परिवाद समिति के सभी सदस्य मौजूद थे।