लिंग्याज में मनाया गया विश्व जल दिवस

0
143

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : लिंग्याज डीम्ड-टू-बी- यूनिवर्सिटी में विश्व जल दिवस मनाया गया। जिसका मुख्य उद्दश्य विश्वभर में पीने के पानी की आपूर्तिव उसका महत्व को समझाने का था।सभी को पानी की जरूरत को समझाने के उद्देश्य से ही यूनिवर्सिटीमें विश्व जल दिवस मनाया गया। जिसमें बच्चों ने पूरे उत्साह के साथ भाग लिया और पानी के महत्व को लेकर अपने विचार व्यक्त कियें। डिपार्टमेंट ऑफ इंगलिश के द्वारा इस दिवस को आयोजित किया गया। जिसका संचालन डॉ. रशमी ने किया।

इस अवसर पर यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. ए.आर.दुबे, डीन ऑफ एकेडमिक डॉ. पंकज मिश्रा समेत कई और फैकल्टीज ने भी अपनी मौजूदगी दर्ज कराई। वहीं कुलपति डॉ. ए.आर.दुबे ने पानी को लेकर अपने विचार वयक्त किए कि हमारे जीवन में जल का क्या महत्व है। पानी के बिना हमारा जीवन किस तरह अधूरा है। इन सभी बातों पर चर्चा की। उसी तरह से डॉ. पंकज ने भी सभी के समक्ष अपने विचार रखे। वहीं डिपार्टमेंट ऑफ इंगलिश की एकेडमिक डीनप्रोफेसर आंचल मिश्रा ने कहां किमैं अपने डिपार्टमेंट की सभी फैकल्टीज का धन्यवाद करती हूं कि उन्होंने इस इवेंट को करने में अपना पूरा सहयोग दिया। उन्होंने कहां कि इस इवेंट को करने का मकसद यहीं था कि हम सब पानी की महत्वता को समझे और उस पर अमल भी करें।

कब से मनाया जा रहा है यह दिवस

1993 में पहली बार विश्व जल दिवस मनाया गया था और संयुक्त राष्ट्र संघ ने 1992 में अपने ‘एजेंडा 21’में रियो डी जेनेरियो में इसका प्रस्ताव दिया था। संयुक्त राष्ट्र के अनुसारलगभग 4 बिलियन लोग वर्ष में कम से कम एक महीने के लिए पानी की भारी कमी का अनुभव करते हैं और लगभग 1.6 बिलियन लोग – दुनिया की आबादी का लगभग एक चौथाई – एक स्वच्छ, सुरक्षित जल आपूर्ति तक पहुँचने में समस्याएं हैं।