आप नेता संतोष यादव ने मुंडन करवाकर सरकार का विरोध किया

0
409

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 5 अप्रैल। आम आदमी पार्टी की टिकट पर एन आईटी 86 विधानसभा से चुनाव लड़ चुके प्रवासी नेता संतोष यादव ने भाजपा की खट्टर सरकार और एनआईटी 86 विधानसभा के विधायक नीरज शर्मा पर गंभीर आरोप लगाए। संतोष यादव ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी के साथ महंगाई जैसी महामारी ने फरीदाबाद वासियों के गरीब मजदूर वर्ग की कमर तोड़ दी है और ऐसे वक्त में हरियाणा सरकार के प्रतिनिधि राजनीति कर रहे हैं और जनहित में गरीब मजदूर को कोई जरूरी सुविधा नही पहुंचा पा रही है, जो दयनीय है।
जब से भाजपा सरकार ने लॉक डाउन किया है, तभी से वह बराबर भाजपा सरकार और क्षेत्र के विधायक से अपील कर रहे हैं कि एनआईटी 86 विधानसभा के प्रत्येक परिवार और हर गली मोहल्ले में घर-घर राशन और घोषणा की गई, राशि वितरित करें और क्षेत्र के सभी एरिया में सेनेटाइजेशन करें और प्रत्येक घर मे मास्क और सेनिटाइजर वितरित किया जाए और हर परिवार की कोरोना जांच घर जाकर नि:शुल्क किया जाये और लघु, सूक्ष्म उद्योगपति से सिक्योरिटी के नाम पर लाखों करोड़ों रूपए भाजपा सरकार ने अवैध वसूली की है उसे वापिस किया जाए। गरीब, मजदूर, ऑटो वालो के लोन की तीन किश्ते सरकार भरे, कोरोना महामारी में ड्यूटी देने वाले सभी प्रशाशनिक कर्मचारी और अधिकारी और कोरोना से मृत व्यक्ति के परिवार को सरकार एक करोड़ राशि की घोषणा करे।
संतोष यादव साथ ही सरकार से मांग रखी कि विधवा-बुढापा पेंशन डबल करके पेंशन धारकों और जनधन खातों में घोषणा की गई राशि वितरित किया जायें एवं फरीदाबाद के सरकारी अस्पताल बीके को वेंटिलेटर, आईसीयू और सभी दवाइयों व इलाज के योग्य बनाकर हाईटेक किया जाए और एनआईटी 86 विधानसभा के प्रत्येक स्कूल, सामुदायिक भवन, सुबह नाश्ते से लेकर रात्रि भोजन का प्रबंध गरीब मजदूर व प्रवासियों के लिए किया जाए। इस समय प्रवासी राशन और जरूरी सुविधा न मिलने की वजह से पलायन कर चुका है और जो है उन पर सरकार ध्यान नहीं दे रही है। जनता का तीन महीने के बिजली बिल सरकार माफ करें जब सरकार ने एक भी अपील को जनहित में जारी नही किया और राशन व भोजन जैसी जरूरी सुविधा नही पहुंचा पाई तो लॉक डाउन का पालन करते हुए दु:खी होकर उन्होंने आज मुंडन करवाकर भाजपा सरकार का विरोध किया और अपने बालों को गरीब, मजदूर, प्रवासी, दलित, पिछड़ा के चरणों मे अर्पित करने की घोषणा की और कहा कि मैं आजीवन हर महीने की पहली तारीख को उपवास रखूंगा जब तक मेरे देश का प्रत्येक गरीब, दलित, प्रवासी, पिछड़ा मजबूत न हो जाये और और जनहित में सभी सुविधाएं सरकार की पहुंचे और सरकार स्कूल, अस्पताल दुरुस्त हो जाये। तब जाकर मैं अपना उपवास खोलूंगा और हमेशा जनता के हित का लड़ाई सरकार से लड़ते रहेंगे और हिटलर शाही खत्म करके राम राज्य लाने का प्रयास करेंगे।