कम्बल की दूकान में आग लगने से बुजुर्ग महिला की गई जान, पुलिस ने सक्रियता से कार्य करते हुए बाकी परिजनों को बचाया 

0
246
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : थाना कोतवाली प्रभारी निरीक्षक कुलदीप सिंह व टीम की सतर्कता से कम्बल की दूकान में आग लगने पर परिवार के 3 सदस्यों को सुरक्षित बाहर निकाला गया|
घटना NIT1 के C ब्लॉक की है जहाँ देवेन्द्र भाटिया की कम्बल की दूकान व उसी के साथ में गोदाम है| देवेन्द्र भाटिया, अपनी पत्नी व एक बेटी के साथ दूकान के ऊपर मकान में रह रहे थे और उनकी 70 वर्षीय बुजर्ग माँ सीढियाँ न चढ़ पाने की वजह से दूकान में बनाए एक कमरे में रह रही थी|
दिनांक 6/7 जनवरी रात शोर्ट सर्किट होने की वजह से दूकान व गोदाम में आग लग गई| जब आग ज्यादा भड़क गई तो कॉलोनी वासियों को इसके बारे में पता चला और उन्होंने पुलिस को फ़ोन करके इसकी सूचना दी|
सूचना मिलते ही थाना कोतवाली प्रभारी कुलदीप सिंह व टीम मौके पर पहुंचे और फायर ब्रिगेड, बिजली विभाग को इसकी सूचना दी|
देवेन्द्र भाटिया की बुजुर्ग माँ दूकान का शटर नहीं खोल पाई व आग ज्यादा भड़कने की वजह से उनकी मृत्यु हो गई|
आग से दूकान व गोदाम में रखा सारा सामान जल गया और इमारत क्षतिग्रस्त हो गई|
पुलिस टीम ने साहस का परिचय देते हुए देवेन्द्र भाटिया, उनकी पत्नी और बेटी को घर सुरक्षित से बाहर निकाला और लोगों को घटनास्थल से दूर ले जाया गया ताकि कोई और उसकी चपेट में न आ सके|
बिजली विभाग द्वारा लाइट का कनेक्शन काटा गया और इसके पश्चात् फायर ब्रिगेड द्वारा आग पर काबू पाया गया|
थाना प्रभारी ने JCB मशीन बुलवाकर दूकान के शटर को तुड़वाया और बुजुर्ग महिला के शव को बाहर निकालकर सरकारी हस्पताल भिजवा दिया|
इस घटनाक्रम में पुलिस टीम की अहम् भूमिका रही है जो बिना देरी किए मौके पर पहुंची और लोगों की सुरक्षा के लिए अपनी जान जोखिम में डालकर उन्हें वहां से बाहर निकाला और सक्रिय रूप से कार्य करते हुए अपने कर्तव्य का निर्वाहन किया|
पुलिस आयुक्त श्री ओ पी सिंह ने बुजुर्ग महिला की मृत्यु पर शोक जताया| उन्होंने कहा कि यह घटना किसी के साथ भी घटित हो सकती है इसलिए लोग सतर्क रहें और अपने मकानों को किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना से बचाने के लिए उनमे सुरक्षा उपकरण लगवाएं|
उन्होंने पुलिस टीम द्वारा किए गए सराहनीय कार्य के लिए उन्हें प्रथम श्रेणी प्रशंसा पत्र देकर प्रोत्साहित किया|