रेडक्रास सोसायटी एवं लायंस क्लब फरीदाबाद सेंट्रल द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन किया

0
252
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 29 फरवरी। जिला उपायुक्त यशपाल के दिशा-निर्देशानुसार जिला रेडक्रास सोसायटी फरीदाबाद एवं लायंस क्लब फरीदाबाद सेंट्रल द्वारा आज बल्लभगढ़ के गांव पन्हैड़ा खुर्द स्थित भारतीयम् कॉलेज ऑफ एजुकेशन के प्रांगण में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें 25 यूनिट रक्तदान किया गया। शिविर का मुख्य ध्येय था ‘मानवता के हित में काम कीजिए रक्तदान में भगा लीजिए’।
इस मौके पर जिला रेडक्रास के सचिव विकास कुमार ने कहा कि शरीर के विभिन्न अंग कृत्रिम रूप से बनने लगे हैं, लेकिन रक्त एक ऐसा तत्व है, जो नहीं बनाया जा सकता। ये एक मानव से दूसरे को दिया जा सकता है। खून की कमी से किसी की जान न जाए, इसकी उद्देश्य के साथ यह शिविर आयोजित किया गया है।
लायनेस क्लब फरीदाबाद सेंट्रल की चैप्टर प्रेसिडेंट लायनेस वेद कुमारी ने रक्तदान के फायदे गिनाते हुए बताया कि ब्लड प्रेशर नियंत्रित होता है। कैलोरी खर्च होने से शरीर की चर्बी घटती है। शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा घटती है। रक्तदान से नई कोशिकाओं का सृजन होता है और नियमित अंतराल में रकतदान से शरीर में आयरन की मात्रा संतुलित रहती है। इसलिए हर स्वस्थ मानव को नियमित अंतराल पर अवश्य ही रक्तदान करना चाहिए।
 भारतीयम् कॉलेज ऑफ एजुकेशन के अध्यक्ष ज्ञान भारद्वाज ने कहा कि रक्तदान महादान है, हर किसी को करना चाहिए। दान किया हुआ रक्त किसी की जिंदगी को बचाने के काम आ सकता है। रक्तदान करने से तन-मन निरोग रहता है। किसी की जान बचाने में मेरा रक्त काम में आएगा, यह जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धि है। किसी भी व्यक्ति को खून की आवश्यकता पड़ सकती है। ब्लड बैंकों में रक्त नहीं मिलने से किसी की भी जान जा सकती है। रक्तदान जान बचाने में मददगार साबित हो सकता है।
वहीं रक्तदाताओं ने खुशी व्यक्त की कि उनके द्वारा किए गए रक्तदान से किसी मानव की जान बचाई जा सकेगी, जो उनके लिए सौभाग्य की बात होगी।
इस मौके पर जिला रेडक्रास सोसायटी के सहायक बिजेंद्र सौरात लायनेस क्लब फरीदाबाद सेंट्रल की पास्ट प्रेसिडेंट (एक्विटि पर्सन) लायनेस सुनीता खुराना, एक्विटि चेयरपर्सन लायनेस राजिंद्र कौर, क्लब प्रेसिडेंट लायनेस मीना, क्लब सेकेट्री लायनेस वीनू दुआ, क्लब ट्रेजरार लायनेस संतोष भारद्वाज, कालेज के उपाध्यक्ष आर के शर्मा, प्रिंसिपिल डा. सरिता भारद्वाज, डा. कुलभूषण, डा. मेघना, एसिस्टेंट प्रोफेसर डा. रूचिका, एसिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. रितु दीवान, एसिस्टेंट प्रोफेसर नरेश खत्री, एसिस्टेंट प्रोफेसर कविता अहलावत, एसिस्टेंट प्रोफेसर पूजा गर्ग, एसिस्टेंट प्रोफेसर अनीशा राणा, एसिस्टेंट प्रोफेसर अनीता शर्मा तथा एसिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. सुषमा जायसवाल ने कार्यक्रम में सक्रियता से भाग लिया।