व्यापारी से धोखा देकर 10 लाख रुपये लेकर भागने वाले आरोपी के जीजा सह आरोपी प्रेमचन्द को क्राईम ब्रांच 48 ने धर दबौचा

0
215
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : आपको बताते चले की पकड़ा गया आरोपी प्रेमचन्द निवासी गढ़मुक्तेश्र्वर हापुड उत्तर प्रदेश का रहने वाला है, जिसका साला व मुख्य आरोपी नरेश ऑटो चलाने का काम करता है। बीकानेर राजस्थान के खोवा व्यापारी अक्सर उसी का ही ऑटो किराए पर लेकर जाते थे।
पूछताछ पर आरोपी ने बताया कि अपने साले नरेश के साथ मिलकर योजना बनाई थी
बिकानेर, राजस्थान से, बीकानेर मिष्ठान भंडारो पर कुछ व्यापारी खोवा सप्लाई करने के लिए आते है। व्यापारी बाद मे अपने खोवा की पेमेंट मिष्टान भंडारो से इकट्ठा करते है।
जिसके लिए वो मुख्य आरोपी नरेश का ऑटो किराए पर लेते है। जैसे ही वे दुकानों से रुपये इकट्ठा करगें मुख्य आरोपी ऑटो लेकर फरार हो जाएगा।
योजना के अनुसार मुख्य आरोपी नरेश दिनांक 16.11.2020 को व्यापारियों ने जब अपनी सभी पेमेंट इकट्ठी कर ली तब थाना कोतवाली एरिया से आरोपी ने व्यापारियों को धोखा देते हुए, ऑटो मैं रखे 10 लाख रुपये लेकर ऑटो सहित फरार हो गया था।
आरोपी ने यह रुपए गढ़मुक्तेश्वर जाकर अपने जीजा प्रेमचन्द को दे दिए।
योजना के अनुसार प्रेमचन्द घटना वाले दिन पहले ही नरेश के बच्चों को मानेसर गुडगांव से किराए का मकान खाली करके हापुड उत्तर प्रदेश लेकर चला गया।
उच्च अधिकारियों ने  आरोपियों की धरपकड़ के लिए  यह केस क्राइम ब्रांच 48 को  सौंपा गया  जिस पर क्राईम ब्रांच 48 प्रभारी राकेश ने अपनी टीम सब इंस्पेक्टर सतबीर हेड कांस्टेबल संजय व अन्य मुलाजिमों के साथ  गुप्त सुत्रो से प्राप्त सूचना पर प्रेम चन्द के ठिकाने गढमुक्तेश्र्वर हापुड में दबिश दी तो प्रेमचन्द और नरेश को पहले ही भनक लग गई और वह अपने ठिकाने से फरार हो रहे थे कि पुलिस ने पीछा करके प्रेमचन्द को काबू कर लिया। आरोपी नरेश कुमार मौका से फरार हो गया जिसका पीछा किया गया जो गन्ने के खेतों में घुस गया।
आरोपी प्रेमचन्द के कब्जे से क्राईम ब्रांच टीम ने 9 लाख रुपये भी बरामद कर लिए है।
आज आरोपी प्रेमचंद  को अदालत में पेश कर जेल भेजा दूसरे मुख्य आरोपी नरेश की तलाश जारी है जिसे जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।