क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 की टीम ने आगरा नहर में डूबती हुई महिला की बचाई जान

0
315
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : क्राइम ब्रांच, सेक्टर 85 की टीम ने जिस तरह अपनी जान पर खेल कर आगरा नहर में डूबती हुई महिला की जान बचाकर जो मानवीय उदाहरण प्रस्तुत किया है वह सभी के लिए किसी प्रेरणा से कम नहीं है।
पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते बताया की क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 इंचार्ज सुमेर सिंह व अपनी टीम के साथ मनोज भाटी मर्डर केस के संबंध में अपराधियों की तलाश में कही जा रहे थे कि रास्ते में सेक्टर 29 पुल के नजदीक उन्होंने देखा कि एक महिला आगरा नहर में डूब रही है और थोड़े बहुत हाथ पैर चलाने के कारण महिला कभी पानी के नीचे चली जाती और कभी ऊपर आ जाती। उन्होंने तुरंत गाड़ी रोक कर उसमे से रस्सा निकाला और एक सिरा तैरना जानने वाले किसी जानकार युवक को देकर नहर में भेजा और अपनी टीम की सहायता से महिला को आगरा नहर से सकुशल बाहर निकाला, उनकी टीम में सहायक उप निरीक्षक छन्ना राम और हवलदार दिनेश कुमार शामिल थे।
महिला को नहर से बाहर निकालने के बाद प्राथमिक उपचार दिया गया जमीन पर उल्टा लेटाया फिर पीठ को दबाकर नहर में डूबने के कारण जो पानी उसके फेफड़ों में चला गया था उसको निकाला गया जिसके बाद महिला को इलाज के लिए बीके सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया अब महिला की हालत खतरे से बाहर है और अब वह स्वस्थ है, अगर समय रहते पुलिस मौके पर नहीं पहुंचती तो महिला की मृत्यु भी हो सकती थी।
खेड़ी पुल थाना पुलिस के अनुसार पूछताछ में महिला ने बताया कि उसने प्रेम विवाह किया था और कुछ पारिवारिक मनमुटाव के चलते वह दिमागी रूप से परेशान हो गई थी जिसके बाद महिला ने अपने 4 महीने के बच्चे सहित नहर में छलांग लगा दी, पुलिस द्वारा महिला के 4 महीने के बच्चे को नहर में काफी देर तक ढूंढा गया लेकिन बच्चे का कुछ अता पता नहीं लग पाया लेकिन महिला को सकुशल आगरा नहर से बाहर निकाला गया।
 क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 उप निरीक्षक सुमेर सिंह और उसकी टीम ने एक हीरो की तरह मिशाल कायम की। सुमेर सिहं ने कहा कि एक पुलिसकर्मी होने के नाते यह मेरा कर्तव्य है और सिर्फ़ मेरी नौकरी के कारण ही नहीं, बल्कि एक इंसान होने के नाते भी यह मेरा धर्म था कि मैं जरूरत में दूसरे इंसान की मदद करूँ।”
प्रभारी क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 और उनकी टीम को उनके इस बहादुरी भरे काम के लिए उनके साथियों के साथ-साथ डिपार्टमेंट के अफ़सरों से भी सराहना मिली और मौके पर मौजूद लोगों ने फरीदाबाद पुलिस के इन कर्मचारियों की सराहना की है।